मुंबई का पानी शुद्ध, सीधे नल से पी सकते हैं लोग

मुंबई
मुंबई महानगरपालिका का दावा है कि मुंबईकर नल से आने वाले पानी को सीधे पी सकते हैं। हाइड्रोलिक इंजीनियर अशोक तावड़िया ने कहा कि मुंबई का पानी इतना शुद्ध है कि  लोग नल का पानी बिना ट्रीटमेंट के भी पी सकते हैं। एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक, मनपा ने अप्रैल 2018 से मार्च 2019 तक मुंबई के कई इलाकों में रोज पानी के नमूने  लिए और उसका टेस्ट किया गया। रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई में औसतन 0.7 फीसदी कोलिफॉर्म बैक्टीरिया सकारात्मक पाया गया है। यह माइक्रोऑर्गेनिज्म का एक समूह है जो पानी  में मौजूद होता ही है। हालांकि पानी में इसकी मौजूदगी को ठीक नहीं माना जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन का ऐसा मानना है कि पांच फीसदी तक यह बैक्टीरिया पानी में मौजूद   रहने पर उस पानी को पीया जा सकता है। शुद्ध पानी केलिए पांच फीसदी मापदंड को बेहतर माना जाता है। पानी की शुद्धता पर अशोक तावड़िया ने कहा कि मुंबई का पानी जो सीधे  नल से आ रहा है, वह पीने योग्य है। लोग नल के पानी को सीधे पी सकते हैं। अगर पानी को स्टोर करते हैं तो टैंकों और टंकियों को साफ-सुथरा रखना होगा। नियमित तौर पर   उसकी सफाई करानी होगी। मुंबई में गंदा पानी पीने से हर साल डायरिया के लाखों मामले सामने आते हैं।
इसका कारण भी अशुद्ध पानी ही होता है। अशोक तावड़िया ने कहा कि ऐसे में अगर मुंबई के लोगों को मनपा शुद्ध पानी उपलब्ध कराती है, तो ये बड़ी उपलब्धि है। इससे पहले विश्व  स्वास्थ्य संगठन ने मुंबई के भांडुप के मनपा के मास्टर बैलेंस रिजरवायर के पानी को विश्व के सबसे शुद्ध पानी में से एक बताया था। हालांकि आपूर्ति के माध्यम के कारण पानी की गुणवत्ता खराब हो जाती है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget