दूसरी बार संसद तक पहुंचे अफ़ज़ल अन्सारी

गाजीपुर
जिले के नवनिर्वाचित सांसद अफजाल अंसारी गाजीपुर से दूसरी बार संसद पहुंचे हैं। इस बार जहां वह पहली बार बसपा से जीते वहीं इसके पहले 2004 में सपा से जीतकर सांसद  बने थे। यूसुफपुर कस्बा के अफजाल अंसारी की प्रारंभिक शिक्षा स्थानीय डॉ. एमए अंसारी इंटर कालेज से हुई। इसके बाद इन्होंने सदर स्थित पीजी कालेज से इतिहास से एमए  किया। इनकी चुनावी यात्रा वर्ष 1985 में शुरू हुई। इसी साल पहली बार कक्युनिट पार्टी से जीत हासिल कर विधान सभा पहुंचे। इनका यह सिलसिला फिर लगातार वर्ष 89, 91, 93  तक जारी रहा। इसके बाद इनको सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने मुहम्मदाबाद की चुनावी सभा में सपा की सदस्यता ग्रहण कराई। वर्ष 96 में सपा के बैनर तले मैदान मारा है,  जबकि वर्ष 2002 में इनको भाजपा प्रत्याशी कृष्णानंद राय से मात खानी पड़ी थी। इसके बाद वर्ष 2004 में इन्होंने गाजीपुर लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी मनोज सिन्हा को दो लाख  26 हजार से अधिक वोटों के भारी अंतर से हराया था। वर्ष 2009 लोकसभा में अफजाल बसपा से लोकसभा चुनाव लड़े। हालांकि इस बार सपा प्रत्याशी राधेमोहन सिंह ने अफजाल को  69 हजार 309 वोटों से मात दी। इसके बाद वर्ष 2014 में इन्होंने अपनी किस्मत बलिया लोकसभा से कौएद प्रत्याशी के रूप में आजमाई। वहां अफजाल को तीसरे स्थान पर रहते  हुए हार का मुंह देखना पड़ा था। उनके आपराधिक रिकॉर्ड पर नजर डालें तो अफजाल अंसारी पर पूर्व विधायक कृष्णानंद राय की हत्या का मामला दर्ज है। इसके अलावा उन पर मुहम्मदाबाद तहसील में धरना प्रदर्शन के दौरान हुई तोड़फोड़ का मुकदमा दर्ज है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget