सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास

नई दिल्ली
प्रचंड बहुमत के साथ लोकसभा चुनाव 2019 में जीतकर आए एनडीए गठबंधन को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को सरकार बनाने का न्योता दे दिया है। इसके साथ ही   उन्होंने नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री नामित करके शपथ ग्रहण का भी न्योता दिया। इस मौके पर मोदी ने कहा कि सरकार सबकी उम्मीदों को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।  मोदी ने कहा कि सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास ही वह मंत्र है, जो भारत के हर क्षेत्र में विकास का रास्ता दिखा रहा है। इसके पहले शनिवार को ही मोदी को  भाजपा और एनडीए का सर्वसम्मति से नेता चुना गया था, जिसके बाद एनडीए के घटक दल राष्ट्रपति के पास सरकार बनाने का दावा करने पहुंचे थे। राष्ट्रपति से मिलने के बाद  मोदी मीडिया के सामने आए। उन्होंने खुद बताया कि एनडीए की मीटिंग में सभी सांसदों और राजनीतिक दलों ने सर्वसम्मति से उन्हें अपना नेता चुन लिया है। मोदी बोले कि यह  बड़ी जिम्मेदारी है, जिसके लिए उन्होंने सभी का आभार व्यक्त किया। मोदी ने बताया कि एनडीए के साथी दलों ने राष्ट्रपति को मिलकर मीटिंग की जानकारी दी थी। जिसके बाद  राष्ट्रपति ने उन्हें पदनामी प्रधानमंत्री नियुक्त किया। मोदी ने बताया कि राष्ट्रपति ने उन्हें मंत्रिपरिषद से जुड़ी कार्यवाही पूरी करके शपथ ग्रहण का न्योता दिया है। पत्रकारों से बातचीत  में मोदी ने कहा कि जो जनादेश मिला है, उसके साथ बहुत सी अपेक्षाएं भी जुड़ी हुई हैं। उन्होंने कहा कि सरकार 2022 को खास बनाने के लिए पूरी तैयारी करेगी, क्योंकि उस साल  देश की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं। मोदी ने आगे कहा कि नई सरकार जनता के सपनों, आशाओं और अपेक्षाओं को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। इसके पहले भाजपा  और एनडीए के सर्वसम्मति से नेता चुने जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को सेंट्रल हॉल में एनडीए के नए सांसदों को संबोधित किया। अपने भाषण में मोदी ने कहा कि  यह देश सत्ता भाव को नहीं, बल्कि सेवा भाव को स्वीकार करता है। साथ ही मोदी बोले कि देश के अल्पसंख्यकों के साथ अब तक छल हुआ है, जिसे आगे नहीं होने दिया जाएगा।  इसके अलावा यहां से मोदी ने नए सांसदों को कई तरह की नसीहतें भी दीं। एनडीए की संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी,  मुरली मनोहर जोशी और शिरोमणि अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल के पैर छूए और आशीर्वाद लिया। अपने भाषण में पीएम ने कहा कि 2014 से पहले का चुनाव कांट्रैक्ट  टाइप बन गया था, जिसमें लोग 5 साल के लिए सिर्फ किसी को चुन लेते थे और अगर वह ठीक काम नहीं करता तो उसे हटा देते। इसका जिक्र करते हुए मोदी ने आगे कहा कि कि  2014 में देश भागीदार बना। इसलिए जब पीएम ने लाल किले से खड़े होकर कह दिया कि गैस की सŽब्सिडी छोड़ दो तो करोड़ों लोगों ने ऐसा ही किया।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget