हताश टीएमसी ने कराई हिंसा: शाह

कोलकाता
पश्चिम बंगाल के कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का रोड शो हुआ। इस रोड शो में जनसैलाब देखने को मिला। अमित शाह खुली गाड़ी में जनता का  अभिवादन स्वीकार  कर थे। रोड शो से पहले कुछ लोगों ने मोदी और शाह के पोस्टरों को हटा दिया। जिस पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इसके पीछे ममता सरकार का हाथ बताया।  कोलकाता में अमित शाह के रोड शो में आगजनी और पथराव की वारदात सामने आई। इसके बाद भाजपा के नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने चुनाव आयोग से मुलाकात करके मामले  पर शिकायत की। उन्होंने मामले में आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की। इस मामले के बाद केंद्रीय सुरक्षा बलों ने फ्लैग मार्च किया।
रोड शो में हुए हंगामे पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि भाजपा के रोड शो में जिस तरह से जनसैलाब उमड़ा उससे टीएमसी के गुंडों ने निराश होकर हमला कर दिया। मैं  भाजपा कार्यकर्ताओं को बधाई देना चाहता हूं कि इस तरह की अराजकता के बाद भी रोड शो जारी रहा। अमित शाह के काफिले पर हमले को लेकर भाजपा के एक डेलीगेशन ने  इलेक्शन कमिशन से मुलाकात किया।
अमित शाह का काफिला जब कलकत्ता यूनिवर्सिटी के सामने पहुंचा, तो वहां पहले से मौजूद टीएमसी और वाम दलों की छात्र ईकाई के कार्यकर्ताओं ने अमित शाह वापस जाओ के  नारे लगाए। साथ ही उन्हें काले झंडे भी दिखाए। ऐसा बताया जा रहा है कि अमित शाह के रोड शो पर हमले के पीछे तृणमूल कांग्रेस और वाम दलों के छात्र ईकाई हैं। यह हमला  कोलकाता के विद्या सागर कॉलेज के सामने हुआ।
बता दें कि लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के मतदान से पहले पश्चिम बंगाल की सियासत गरमा गई है। मंगलवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में पत्थरबाजी और झड़प का मामला देर शाम चुनाव आयोग पहुंच गया। भाजपा ने आयोग से मांग की है कि तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों को कथिततौर पर भड़काने के लिए मुख्यमंत्री  ममता बनर्जी को प्रचार से रोका जाए। उधर, ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा को घेरा है। देर शाम विद्यासागर कॉलेज पहुंचकर  उन्होंने घटना की जानकारी ली। इसी के पास में शाह के रोड शो में झड़प हुई थी।

भाजपा ने चुनाव आयोग से की यह मांग
उधर, दिल्ली में चुनाव आयोग के अधिकारियों से भाजपा के वरिष्ठ अधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल देर शाम मिला। बाद में मुख्तार अब्बास नकवी ने पत्रकारों को बताया कि  हमने आयोग से मांग की है कि अराजक तत्वों और हिस्ट्रीशीटरों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए। उन्होंने ईसी से मांग की है कि केंद्रीय बल चुनाव क्षेत्रों में फ्लैग मार्च करें और  मुख्यमंत्री को अपने समर्थकों को भड़काने के लिए प्रचार से प्रतिबंधित किया जाए। केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी मांग की है कि आयोग ममता बनर्जी के प्रचार पर बैन  लगाए। रोड शो में बवाल के बाद बीजेपी प्रेजिडेंट अमित शाह ने सीधे तौर पर बवाल के लिए ममता को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि ममता बनर्जी की पार्टी द्वारा की जा रही  हिंसा की मैं निंदा करता हूं। मैं बंगाल की जनता से अपील करना चाहता हूं कि वह अपने वोट से इसका जवाब दे। राज्य में हिंसा को समाप्त करने के लिए टीएमसी को सत्ता से   बेदखल करना जरूरी हो गया है। वहीं, नकवी ने कहा है कि परमिशन के बाद यह रोड शो हो रहा था। फिर भी भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले किए गए और बम धमाका करने की  कोशिश की गई। बताया जा रहा है कि अमित शाह का रोड शो कॉलेज स्ट्रीट पर कलकत्ता यूनिवर्सिटी के सामने से गुजरा तो बीजेपी और लेफ्ट व टीएमसी के छात्र संगठनों के  कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। कई जगहों पर आगजनी भी हुई। कुछ देर बाद विद्यासागर कॉलेज में बनी ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति भी तोड़ दी गई।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget