विश्व कप के दौरान इंग्लैंड की विकेटों के साथ ढलना अहम : ब्रेट ली

नई दिल्ली
दो बार के विश्व चैंपियन तेज गेंदबाज ब्रेट ली का मानना है कि मौजूदा विजेता ऑस्ट्रेलिया में इतना दम है कि वह इंग्लैंड एंड वेल्स में होने वाले विश्व कप में काफी दूर तक जा  सके। यहां के कार्यक्रम से इतर ली ने कहा कि जाय रिचर्ड्सन की चोट एरोन फिंच की कप्तानी वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए चिंता का विषय नहीं है, क्योंकि स्टीव स्मिथ और  डेविड वॉर्नर के आने से टीम को मजबूती मिली है। ली ने कहा कि वह जितनी दूर जाना चाहें जा सकते हैं। वह अच्छी टीम हैं। रिचर्ड्सन को चोट लगी है और वह विश्व कप से बाहर हो गए हैं, लेकिन केन रिचर्ड्ïसन टीम में आए हैं। देखिए विश्व कप में जो भी टीम जाती है, वो पूरी तरह से तैयार रहती है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप इंग्लैंड  की विकेटों के साथ कितनी जल्दी ढलते हो। जाय रिचर्ड्सन को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई वनडे सीरीज में कंधे में चोट लग गई थी और वह  फुल फिटनेस में विश्व कप के बाद खेले जाने वाली एशेज सीरीज के दौरान आ पाएंगे। ऑस्ट्रेलिया बीते कुछ वर्षों में वनडे क्रिकेट में काफी पिछड़ रही है। उसकी स्थिति स्मिथ और  वॉर्नर पर लगे प्रतिबंध के कारण और बुरी हो गई थी। 2019 में हालांकि ऑस्ट्रेलिया की किस्मत बदली हुई नजर आ रही है। उसने साल की शुरुआत भारत को उसके घर में 3-2 से  मात देने के साथ की थी, तो वहीं पाकिस्तान को यूएई में 5-0 से पटखनी दी। ली ने साथ ही कहा कि किसी को यह नहीं सोचना चाहिए कि इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप में सिर्फ  तेज गेंदबाज ही कमाल दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि हमें इस बात को ध्यान में रखना होगा कि टूर्नामेंट किस समय पर हो रहा है। वो जून और जुलाई का समय होगा और उस समय विकेट तेज गेंदबाजों के लिए ज्यादा मददगार नहीं होंगे। बाएं हाथ के पूर्व तेज गेंदबाज के मुताबिक इसलिए कई लोगों का लगता है कि यह गेंदबाजों की विकेट होगी, लेकिन ऐसा हो  जरूरी नहीं है। मुझे लगता है कि वह नई गेंद से अच्छा करेंगे, लेकिन एक बार जब गेंद की चमक खत्म हो जाएगी, तब तेज गेंदबाजों को काफी मुश्किल होगी।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget