मुझे गियर बदलने मे वक्त नही लगता : धवन

नई दिल्ली
आईसीसी प्रतियोगिताओं में शिखर धवन भारतीय टीम के लिए बहुत महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं। उन्होंने देश के लिए खेले अब तक के सभी बड़े टूर्नामेंट में दमदार प्रदर्शन किया और अब  वह 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में होने वाले आगामी विश्वकप के लिए तैयार हैं। टीम को सफलता दिलाने के लिए विश्वकप में एक सलामी बल्लेबाज के तौर पर धवन को रोहित शर्मा के साथ बेहतरीन साझेदारी करनी होगी। हालांकि यह काम उनके लिए मुश्किल हो सकता है, क्योंकि वह पिछले एक महीने से इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में दिल्ली  कैपिटल्स के लिए युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ के साथ पारी की शुरुआत कर रहे थे। यह पूछे जाने पर कि ख्या आगामी टूर्नामेंट से पहले वह रोहित से लगातार बातचीत कर रहे हैं?  धवन ने कहा कि रोहित मेरी पत्नी नहीं है, जो मैं हमेशा उनसे बात करता रहूं। धवन ने कहा कि बातें करके ख्या होगा? रोहित मेरी बीवी थोड़ी है। अगर आप किसी के साथ वर्षों  तक खेलते हैं, तो आप उन्हें अच्छे से जान जाते हैं। रोहित के साथ, हम कुछ विशेष नहीं करते। पृथ्वी के साथ बल्लेबाजी करते हुए भी यही चीज होती है। अगर एक खिलाड़ी तेजी  से रन बना रहा है, तो दूसरे को उसका साथ निभाना होगा। बड़े टूर्नामेंट में खेलने से पहले अपने ऊपर पड़ने वाले दबाव पर धवन ने कहा कि दबाव किस बात का? यह मेरा रोज का  काम है। मैं सुनिश्चित करता हूं कि मैं आम बातों का ध्यान रखूं और मेरा दिमाग हमेशा साफ रहता है। कभी-कभी आप रन बनाते हैं, कभी-कभी ऐसा नहीं हो पाता, लेकिन मैं हमेशा  शांत रहता हूं, उन चीजों पर ध्यान देता हूं, जिस पर मुझे काम करना है और फिर अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास करता हूं। मैं ज्यादा चिंता करने पर विश्वास नहीं करता। आईपीएल  का 12वां संस्करण धवन के लिए शानदार रहा। उन्होंने दिल्ली के लिए 16 मैचों में दमदार बल्लेबाजी करते हुए कुल 521 रन जड़े, जिसमें पांच अर्धशतक भी शामिल हैं। उनका  मानना है कि आईपीएल का शानदार फॉर्म उन्हें आगामी टूर्नामेंट में अच्छी स्थिति में रखेगा। वह यह भी मानते हैं कि टी-20 से सीधा वनडे प्रारूप में आकर खेलना उनके लिए कोई  बड़ी चुनौती नहीं है। धवन ने कहा कि यह सीजन बहुत सकारात्मक रहा है, क्योंकि अगर आप अच्छा करते हैं तो आप अच्छी लय में आ जाते हैं। आईपीएल के अलावा मैंने  ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी अच्छा प्रदर्शन किया। प्रारूप को बदलने की कोई चुनौती नहीं है, क्योंकि यह सब कुछ मानसिकता से जुड़ा हुआ है और चीजें बदलने में एक मिनट का  समय लगता है। हम विश्वकप के लिए किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हैं। धवन ने भारत के गेंदबाजी के बारे में कहा कि हमारे पास जसप्रीत बुमरा, भुवनेश्वर  कुमार और मोहम्मद शमी के रूप में बेहद मजबूत गेंदबाजी क्रम मौजूद है। इसके अलावा हमारे पास हार्दिक पंड्या भी हैं, जो एक अच्छे गेंदबाज हैं। हमारी गेंदबाजी बहुत संतुलित है  और यह चीज निश्चित रूप से टीम की मदद करेगी। बुमरा वर्तमान में नंबर-1 गेंदबाज हैं और फिर हमारे पास शानदार स्पिनर भी हैं। मुझे लगता है कि यह टीम बहुत संतुलित है।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget