हर्षवर्धन-मंगलपांडेय की बढ़ीं मुश्किलें

मुजफ्फरपुर
बिहार में चमकी बुखार या ए€यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से लगातार हो रही मौत के मामले में केंद्र और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री की परेशानियां बढ़ती दिख रही हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन और मंगल पांडे के खिलाफ दायर अर्जी पर निचली अदालत ने संज्ञान लिया है। कोर्ट ने दोनों नेताओं के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं। इस मामले की जांच पीएमसीएच करेंगे। अब इस मामले की सुनवाई 28 जून को  होगी।
बता दें कि मुजफ्फरपुर में लगातार हो रही बच्चों की मौत के बीच  सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने अर्जी दायर किया था। हाशमी ने बच्चों की मौत का जिम्मेदार दोनों मंत्रियों को बताते हुए कोर्ट में परिवाद दाखिल किया था। सुप्रीम कोर्ट ने भी बिहार में हो रही बच्चों की मौत पर कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है। चमकी बुखार से बिहार में अब तक 170 बच्चों की मौत हो चुकी है। इस पर कोर्ट ने गंभीर चिंता व्य€त करते हुए कहा कि यह गंभीर चिंताका विषय है। यह (बच्चों की मौत का सिलसिला) ऐसे ही नहीं चल सकता। हमें जवाब चाहिए। कोर्ट ने जिन तीन मुद्दों पर जवाब मांगा है उनमें स्वास्थ्य सेवाओं की पर्याप्त व्यवस्था, पोषण और साफ-सफाई शामिल है।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget