कम नही हो रही कांग्रेस की मुसीबतें

हैदराबाद
तेलंगाना में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के 12 विधायकों ने गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष पी. श्रीनिवास रेड्डी से मुलाकात कर विधायक दल को सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्र  समिति (टीआरएस) में विलय करने की मांग की, जिसे विधानसभा अध्यक्ष ने मंजूर दे दी। बता दें कि दिसंबर में हुए तेलंगाना विधानसभा चुनाव में 119 विधानसभा सीटों में से  कांग्रेस ने 19 सीटें जीती थीं। तेलंगाना कांग्रेस अध्यक्ष उत्तम रेड्डी ने नालगोंडा से लोकसभा चुनाव जीतने के बाद विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। अब कांग्रेस के 18 विधायक हैं।  तंदूर से कांग्रेस विधायक रोहित रेड्डी ने मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव के बेटे केटी रामा राव से मिलकर सरकार के साथ काम करने की इच्छा जताई। इससे पहले मार्च में ही 11  विधायकों ने टीआरएस में शामिल होने का ऐलान किया था। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधायक वेंकट रमन रेड्डी ने कहा कि 12 विधायकों ने राज्य के विकास के लिए सरकार के   साथ मिलकर काम करने का फैसला किया है। अफसरों के मुताबिक, अगर कांग्रेस के 12 विधायकों का टीआरएस में शामिल होते हैं, तो यह विधायकों द्वारा दल-बदल कानून का  उल्लंघन नहीं होगा। 12 विधायकों के टीआरएस में शामिल होने की खबरों पर तेलंगाना कांग्रेस अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा कि हम लोकतांत्रिक तरीके से लड़ेंगे। हम सुबह  से विधानसभा अध्यक्ष से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वे गायब हैं। दूसरी ओर पंजाब कांग्रेस के दो प्रमुख चेहरों मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह  सिद्धू के बीच जारी विवाद बढ़ता जा रहा है। दोनों नेताओं के बीच जुबानी जंग के बाद गुरुवार को सिद्धू, सीएम अमरिंदर की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक से नदारद रहे। इसके  बाद सिद्धू ने सीएम पर पलटवार करते हुए कहा है कि उन्हें जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है।
पंजाब से आ रही खबरें कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व को परेशान कर सकती हैं। लोकसभा चुनाव में हार के बाद कैबिनेट की पहली बैठक में नवजोत सिंह सिद्धू नहीं शामिल हुए। इसके कुछ ही   घंटों बाद कैप्टन अमरिंदर ने सिद्धू का मंत्रालय बदल दिया। बताया जाता है कि इससे सिद्धू कैप्टन से काफी नाराज हो गए हैं। इन दोनों नेताओं की आपसी लड़ाई से पंजाब में पार्टी   को काफी नुकसान होने की संभावना है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget