पाक के बाद चीन में भी महंगाई ने तोड़ा रिकॉर्ड

बीजिंग
चीन की मुद्रास्फीति दर मई में पिछले एक साल से अधिक की अवधि के सबसे उच्च स्तर पर चली गई। इसकी प्रमुख वजह सुअर के मांस और फलों की कीमतों में बेहताशा बढ़ोतरी  होना है। सुअर के मांस की कीमत में बढ़ोतरी की वजह अफ्रीका में स्वाइन बुखार की महामारी फैलना और मौसम का खराब होना है। एक तरफ जहां कीमतें बढ़ रही हैं, वहीं दूसरी   तरफ मांग कमजोर बनी हुई है। इसकी एक बड़ी वजह अमेरिका के साथ चल रहे व्यापार युद्ध के चलते बने आर्थिक अनिश्चिता के हालात हैं।

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक
चीन के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यौरो के हिसाब से मई में चीन का उपभोक्ता मूल्य सूचकांक 2.7 प्रतिशत को छू गया। अप्रैल में यह 2.5 प्रतिशत था। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक खुदरा  मुद्रास्फीति का पता लगाने का एक अहम कारक है। मई की खुदरा मुद्रास्फीति दर फरवरी 2018 के बाद सबसे ऊंची है। यह आंकड़े एक न्यूज चैनल के अनुमान के मुताबिक हैं। चीन  में सुअर के मांस की कीमत में मई में 18.2 प्रतिशत तक की वृद्धि देखी गई। ताजे फलों के मूल्य में भी 26.7 प्रतिशत तक की वृद्धि दर्ज की गई है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget