पश्चिम बंगाल मे डाक्टरोंकी हड़ताल : ममता का अल्टीमेटम पड़ा उलटा

कोलकाता
ममता बनर्जी ने डॉक्टरों से निवेदन करते हुए कहा है कि सभी जिलों से मरीज आ रहे हैं। यदि आप अस्पतालों का ध्यान रखते हैं तो मैं आभारी एवं सम्मानित महसूस करूंगी।  अल्टीमेटम के बाद रिक्वेस्ट मोड में आई ममता ने कहा कि प्लीज काम पर लौट आएं
हड़ताली डॉक्टरों को ममता बनर्जी ने चार घंटे का अल्टीमेटम दिया था। पश्चिम बंगाल के डॉक्टरों ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा चार घंटे में हड़ताल खत्म करने का अल्टीमेटम  दिए जाने के बावजूद अपनी हड़ताल खत्म करने से इनकार कर दिया। बताया जाता है कि कई डॉक्टरों ने इस्तीफा भी दे दिया है। डॉक्टरों ने मुख्यमंत्री पर धमकी देने का आरोप  लगाया है, जिसके बाद ममता ने डॉक्टरों से मरीजों की देखभाल करने का निवेदन किया है।
ममता बनर्जी मेडिकल कॉलेज के सीनियर डॉक्टरों/प्रोफेसरों और अस्पतालों को पत्र लिखकर कहा कि कृप्या सभी मरीजों की देखभाल करें, गरीब लोग सभी जिलों से आ रहे हैं। यदि  आप अस्पतालों का ध्यान रखते हैं तो मैं आभारी एवं सम्मानित महसूस करूंगी। वे आसानी और शांति से चलने चाहिए। बता दें कि सीएम ममता बनर्जी ने गुरुवार को राज्य सरकार  द्वारा संचालित एसएसकेएम अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां हड़ताल पर गए डॉक्टरों को चार घंटे के अंदर काम पर लौटने अथवा हॉस्टल खाली करने का अल्टीमेटम  दिया।
उन्होंने कहा कि जो प्रदर्शन कर रहे हैं वे डॉक्टर नहीं थे लेकिन बाहरी लोग राज्य में परेशानी खड़ी करना चाहते हैं। ममता बनर्जी ने कहा कि सरकार किसी भी तरह से उनका  समर्थन नहीं करेगी। मैं उन डॉक्टरों की निंदा करती हूं जो हड़ताल पर गए हैं। पुलिसकर्मी ड्यूटी के दौरान मर जाते हैं, लेकिन, पुलिस हड़ताल पर नहीं जाती है।

भाजपा और सीपीआई (एम) पर आरोप
'हमें न्याय चाहिए' के शोर के बीच ममता बनर्जी ने कहा कि आपको अपना काम करना होगा। आपको लोगों को सेवा दिए बिना डॉक्टर नहीं हो सकते हैं। इसी तरह पुलिस हड़ताल  नहीं कर सकती। यह उनकी ड्यूटी है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा और सीपीआई (एम) यहां राजनीति कर रही हैं। वे यहां हिंदू मुस्लिम कार्ड खेल रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री चंद्रिमा  भट्टाचार्य ने बुधवार को जूनियर डॉक्टरों से मुलाकात की और उनसे मुझसे बात करने की अपील की। मैं फोन पर थी लेकिन उन्होंने मुझसे फोन पर बात करने से इनकार कर दिया।  हालांकि ममता बनर्जी के दौरे ने प्रदर्शनकारियों को नाराज कर दिया, उन्होंने कहा कि उन्हें (ममता बनर्जी को) एनआरएस कॉलेज और अस्पताल का दौरा करना चाहिए, जहां जूनियर  डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए एक मरीज के परिजनों ने हमला किया था।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget