सीएम से मिलने की जिद पर अड़ी तलाकशुदा महिला

लखनऊ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास, पांच कालीदास मार्ग पर गुरुवार को एक महिला की जिद से सनसनी फैल गई। कानपुर नगर के नवाबगंज में मकान नंबर 2/419 की   रहने वाली हेमा श्रीवास्तव ने सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास पर पहुंचकर उनसे मिलने की जिद शुरू कर दी। सीएम योगी  आदित्यनाथ के जन्मदिन पांच जून को  लखनऊ पहुंची हेमा श्रीवास्तव अपने आप को सीएम योगी  आदित्यनाथ की प्रेमिका बता रही है और उसका दावा है कि योगी आदित्यनाथ पिछले एक वर्ष से ऑनलाइन सुबह से लेकर  रात तक उसके साथ रहते हैं। यह महिला तलाकशुदा है और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इसका €या रिश्ता है यह तो पड़ताल का विषय है, लेकिन यह 100 रुपया के स्टांप पर  उन्हें अपना प्रेम पत्र लिख कर ले आई है। महिला वह योगी को सीधे सौंपना चाहती है और इस प्रेम पत्र में उसने बहुत कुछ लिखा है। हेमा का कहना है कि आपके व्यक्तिगत जीवन पर कुछ भी असत्य कहने पर €या कार्रवाई हो सकती है इससे मैं बहुत अच्छी तरह से परिचित हूं।
मुख्यमंत्री जी आप एक साल से सुबह से रात तक मेरे साथ ऑनलाइन रह रहे हैं और अब आपको वास्तविक जीवन में भी मेरे साथ रहना  होगा। उसने इस पत्र में लिखा है कि मेरी शादी एक लालची परिवार में हो गई थी और अन्य किसी व्यक्तिको मैं नहीं जानती। मैं अपने परिवार में केवल अपनी माता से रिश्ता मानती हूं। मैं तीन साल से घर से बाहर रहकर  संघर्षपूर्ण जीवन जी रही हूं। कभी हॉस्टल में रहती हूं तो कभी किराए का कमरा लेकर इधर-उधर भटकते रहते हैं। पत्र में लिखा है कि मुख्यमंत्री जी हम वास्तविक जीवन में भी  आपके साथ रहना चाहते हैं। इस महिला के हाव भाव से यही लग रहा है कि मानसिक स्थिति ठीक नहीं है।
युवती के इस बयान से मौके पर कानाफूसी होना शुरू  हो गई। ये बात सुनकर महिला के पास लोगों की भीड़ लगनी शुरू  हो गई। महिला  ने बताया कि अपना लव लेटर उपमुख्यमंत्री को दो दिन पहले दिया था। उन्होंने महिला को आश्वासन दिया था। उसने लिखा है कि मुख्यमंत्री जी मेरा जीवन बहुत संघर्षपूर्ण रहा है और अभी भी है मेरा दुर्भाग्य रहा कि मैं बहुत सी खराब परिवार में पैदा हो गई। मेरा तलाक हो चुका है मैं अपने परिवार से केवल अपनी माता से रिश्ता मानती हूं। अन्य किसी भी व्यक्ति को मैं नहीं जानती मेरा किसी से कोई भी रिश्ता नहीं है। मेरी मम्मी ही मेरा सहयोग करती है वह ज्यादा समय तक मेरा सहयोग नहीं कर सकती, €योंकि वह महिला हैं और काफी वृद्धा हैं। हेमा श्रीवास्तव के पिता का नाम सुनील श्रीवास्तव है और वह टेंट का कारोबार करते हैं। लोगों का यह कहना है कि एक संत के ऊपर इस तरह की बातें कहना एक मूर्खता को दर्शाता है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget