पुदिना गर्म रोगोंकी रामबाण दवा

पुदिना गर्मी के मौसम मे सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाता है। इससे पेट की गर्मी से राहत मिलती है। पुदीने की उपयोगिता सिर्फ खाद्य पदार्थ के रूप मे नही बल्कि औषधी के रूप मे भी है। इसके विद्यमान विटामिन और खनिज तत्व इसके औषधिय गुणोंको और बढा देते है।
  • पुदीने का शर्बत या शिकंजी पीने से गर्मी में होने वाली बीमारियों से बचा जा सकता है।
  • पुदीना शरीर की प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाता है और त्वचा संबंधी बीमारियां जैसे-सूखापन, एग्जिमा, मुहांसे, खुजली आदि में लाभप्रद है।
  • पुदीने के एक चम्मच रस को एक कप पानी के साथ लेने से दस्त या अतिसार से बच सकते हैं।
  • पुदीने का रस एक चम्मच, नींबू का रस एक चम्मच, 2 काली मिर्च का चूर्ण, चुटकी भर सेंधा नमक, सबको मिलाकर पीने से उल्टी बंद हो जाती है।
  • पुदीना की 20 हरी पत्तियां, 5 ग्राम जीरा, थोड़ी सी हींग, काली मिर्च के 10 दाने, चुटकी भर नमक, सबको चटनी की तरह पीस लें। फिर इसे 1 गिलास पानी में उबाल लें। जब पानी  आधा गिलास रह जाए तो छान कर पिएं। इससे अपच दूर होगा तथा पेट संबंधी अनेक विकार भी दूर होंगे।
  • बिच्छू व मधुम€खी आदि विषैले जीवों ने जिस स्थान पर डंक मारा हो, वहां पुदीना पीसकर लगाने से आराम मिलता है। 6 ग्राम पुदीने को पीस-छानकर 100 ग्राम चूने के पानी के  साथ मिलाएं। कुछ दिनों तक पैरों पर मलने से पैरों की नसों का फूलना कम हो जाता है।

- उमेश कुमार साहू

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget