पंजाब कांग्रेस मे बढ़ रही कलह

चंडीगढ
पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार में घमासान थम नहीं रहा है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की तकरार घटने के बजाए और बढ़ गई   है। कैप्टन अमरिंदर का सिद्धू को लेकर रुख आक्रामक हो गया है। 20 दिन बाद भी नए ऊर्जा विभाग का कार्यभार नहीं संभालने के कारण सिद्धू का मंत्री पद खतरे में है। बताया जा  रहा है कि कैप्टन ने कांग्रेस आलाकमान को साफ कह दिया है कि सिद्धू अपना नया विभाग ज्वाइन करें अन्यथा वह उनकी जगह नया मंत्री बनाएंगे। कैप्टन आज दिल्ली जाएंगे और  इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलेंगे। दूसरी ओर, सिद्धू का उनके सरकारी दब्तर से नेमप्लेट हटा दिया गया है। इससे सियासी चर्चाएं गर्म हो गई हैं। मुख्यमंत्री कैप्टन   अमरिंदर सिंह आज शाम को दिल्ली जाएंगे। बताया जा रहा है कि वह वहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलेंगे। इससे उनके और नवजोत सिद्धू के बीच विवाद को हवा मिल गई   है। दूसरी ओर, पंजाब सचिवालय की पांचवीं मंजिल पर सिद्धू के दब्तर के बाहर से उनकी नेम प्लेट उतार दी गई है। हालांकि, विभाग के अधिकारियों का कहना है कि ऐसा नेम प्लेट  बदलने के लिए किया गया है, लेकिन सूत्र बताते हैं कि मुख्यमंत्री द्वारा कांग्रेस हाईकमान से बात करने के बाद ही सिद्धू को मंत्री बनाए रखने संबंधी फैसला लिया जाएगा।
मंत्रियों के विभाग में बदलाव के बाद सिद्धू ने 20 दिन बाद भी अपने नए महकमे (ऊर्जा विभाग) का कार्यभार नहीं संभाला है। इससे ऊर्जा विभाग का कामकाज प्रभावित हो रहा है।   कैप्टन अमरिंदर इससे बेहद नाराज बताए जाते हैं। कहा जा रहा है वह अब सिद्धू को और बर्दाश्त करने के मूड में नहीं हैं। कैप्टन ने कांग्रेस हाईकमान तक भी यह संदेश भिजवा   दिया है। ऐसे में सिद्धू को कैप्टन से नाराजगी महंगी पड़ सकती है और उनका मंत्री पद जा भी सकता है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस हाईकमान को यह साफ संदेश दिया कि   अगर नवजोत सिंह सिद्धू ने नए विभाग का कार्यभार नहीं संभाला तो उनको हटा कर किसी और को मंत्री बनाने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा। उल्लेखनीय है कि कैप्टन ने सिद्धू  से स्थानीय निकाय विभाग लेकर ऊर्जा विभाग दे दिया है जिससे वह नाराज हैं।
बताया जाता है कि कैप्टन अमरिंदर का दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फिर सत्ता में आने के बाद नए कैबिनेट मंत्रियों से मिलने का कार्यक्रम है। कैप्टन इस दौरान सिद्धू के  मामले को लेकर राहुल गांधी से भी मिल सकते हैं। राहुल ने 27 जून को अपने 12 तुगलक लेन स्थित आवास पर शाम साढ़े चार बजे मीटिंग बुलाई है। यह मीटिंग हरियाणा कांग्रेस  में अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर छिड़े घमासान को शांत करने को लेकर है, लेकिन कैप्टन भी राहुल से मिल सकते हैं। संसदीय चुनाव के बाद से कैप्टन अमरिंदर की राहुल गांधी  सहित पार्टी लीडरशिप के साथ कोई मीटिंग नहीं हुई है। दूसरी ओर, सिद्धू और उनके करीबियों पर विजिलेंस का घेरा भी कस सकता है। सिद्धू के स्थानीय निकाय मंत्री रहते कुछ  महत्वपूर्ण प्रोजेक्टों के अलॉटमेंट में घोर अनियमितता की शिकायतें हैं। विजिलेंस ब्यूरो ने इसकी जांच शुरू कर दी है और बताया जाता है कि इसमें निशाने पर सिद्धू के कुछ करीबी हैं।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget