भगोड़े नीरव की रिमांड बढ़ी

मुंबई
ब्रिटिश कोर्ट ने गुरुवार को भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी की रिमांड 25 जुलाई तक बढ़ा दी है। नीरव भारत में पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के दो अरब डॉलर से अधिक के घोटाले  और मनी लॉड्रिंग केस में वांछित है। भारत सरकार ब्रिटेन से 48 वर्षीय नीरव प्रर्त्यपण की कोशिश कर रही है जिसे मार्च में साउथ-वेस्ट लंदन से गिरफ्तार किया गया था। ब्रिटिश  कोर्ट ने 12 जून को नीरव की जमानत याचिका खारिज कर दी थी, यह चौथी बार था जब उसकी याचिका खारिज की गई थी।
नीरव के खिलाफ पिछले साल मई और फिर जुलाई में अरेस्ट वारंट जारी किया गया था। अगस्त 2018 में प्रर्त्यपण को लेकर ब्रिटिश अथॉरिटी को निवेदन भेजा गया था। नीरव की  गुरुवार को लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में विडियो लिंक के जरिये पेशी हुई। नीरव को 19 मार्च को स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने गिरफ्तार किया था और तब से वह जेल में है।  ब्रिटिश कानून के मुताबिक, नीरव को हर चार सप्ताह में कोर्ट में पेश किया जाएगा, 29 जुलाई से पहले एकबार फिर उसकी रिमांड को लेकर सुनवाई होगी। यूके के क्राउन  प्रॉसिक्यूशन सर्विस भारत सरकार का प्रतिनिधित्व कर रहा है, और उसे 11 जुलाई तक नीरव मामले में ओपनिंग पोजिशन स्टेटमेंट पेश करना है।

नीरव और बहन के स्विस खाते फ्रीज

स्विट्जरलैंड के अधिकारियों ने पीएनबी धोखाधड़ी मामले में मुख्य आरोपी नीरव और उसकी बहन के चार स्विस खातों से लेनदेन पर रोक लगा दी है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि  भारत में नीरव मोदी के खिलाफ चल रहे आपराधिक मनी लॉड्रिंग मामले में ये कार्रवाई की गई है। सूत्रों ने बताया कि वर्तमान में इन खातों में कुल 283.16 करोड़ रुपए जमा है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget