भारत-अमेरिका हर कदम पर साथ-साथ

नई दिल्ली
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो भारत दौरे पर हैं। भारत पहुंचते ही पोंपियो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री एस. जयशंकर और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल  से मुलाकात की। इन बैठकों के बाद पोंपियो ने एक खास बातचीत में कई मुद्दों पर अपनी राय रखी। भारत और अमेरिका के परस्पर संबंधों के बारे में पोंपियो ने कहा कि दोनों देशों   के पास अपार क्षमता है। दोनों देश लोकतांत्रिक मूल्यों को तरजीह देते हैं। पोंपियो ने कहा कि भारत के लोग अमेरिका या दुनिया के हर कोने में हर स्तर पर अमेरिका के साथ खड़े  दिखते हैं। माइक पोंपियो ने कहा कि हमारा ध्यान इस पर ज्यादा है कि भारत और अमेरिका के संबंधों को नई धार कैसे दें और इसे ज्यादा से ज्यादा कैसे महत्वाकांक्षी बनाएं।  पोंपियो दोनों देशों के बीच व्यापार और रक्षा जैसे मुद्दों को एक सकारात्मक दिशा देने के लिए आशावान हैं।

द्विपक्षीय वार्ता के नतीजे
माइक पोंपियो ने कहा कि सबसे अच्छी बात यह है कि दोनों देशों के बीच एक वास्तविक प्रतिबद्धता है। अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि मैं अपने समकक्ष एस. जयशंकर से पहली  बार मिला। कई अमेरिकी उन्हें तब से जानते हैं, जब वे अमेरिका में भारत के राजदूत थे। इसलिए दोनों देशों के बीच एक साथ काम करने को लेकर पहले से समझदारी है। दोनों  देशों के साथ साथ दुनिया के अन्य मुल्कों के लिए भी भारत और अमेरिका के बीच एक अच्छी, ठोस और भरोसेमंद साझेदारी का जरूरत है।

भारत से 'प्रेफरेंशियल स्टेटस' वापस लेना
अमेरिका की ओर से भारत के 'प्रेफरेंशियल स्टेटस' वापस लेने के मुद्दे पर पोंपियो ने कहा कि इस संबंध को सामान्य बनाने की दिशा में काम होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमें  पूरा विश्वास है कि हम इसे बहाल कर लेंगे। 'जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंस' भारत के लिए बड़ा मुद्दा है। सभी लोग जानते हैं कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए व्यापार घाटा  काफी मायने रखता है। इसलिए हमें भरोसा है कि दोनों देश इस पर मिलकर काम करेंगे। हर देश को कुछ चीजें छोड़नी होगी और व्यापार करना होगा, मित्रवत देश ऐसा करते भी हैं।

पाकिस्तान का आतंकवाद को समर्थन
माइक पोंपियो ने इस मुद्दे पर कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल से इस पर विस्तृत चर्चा हुई। हमने एक साथ इस वचनबद्धता को दोहराया कि आतंकवाद कहीं भी बर्दाश्त नहीं है। हमने इस मुद्दे को काफी गंभीरता से लिया है, क्योंकि यह भारत के लोगों के लिए खतरा है। साथ ही अफगानिस्तान में शांति के प्रयासों के लिए भी गंभीर चुनौती है। एक राजनयिक होने के नाते मैं उम्मीद करता हूं कि पाकिस्तान सही रास्ता चुनेगा। पाकिस्तान के लोगों के लिए भी यही सबसे अच्छा नतीजा भी होगा।

मसूद अजहर आतंकी घोषित
पाकिस्तानी आतंकवादी मसूद अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने के मुद्दे पर पोंपियो ने कहा कि इस काम के लिए हमने काफी मेहनत की है। हमें खुशी है कि इसका  अच्छा प्रतिफल मिला। हमें पता है कि ये गलत लोग कौन हैं, जो भारत और दुनिया के लिए खतरा हैं। ऐसे खतरों को कम करने के लिए अमेरिका और भारत पूरी तरह से  क्षमतावान हैं।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget