जगन का अभिनव प्रयोग

अमरावती
आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने शुक्रवार को अपने 25 सदस्य मंत्रिमंडल में पांच उपमुख्यमंत्री नियुक्त किए। वे ऐसा करने वाले पहले मुख्यमंत्री हैं। सीएम हाउस में हुई  वाईएसआर कांग्रेस नेताओं की बैठक में यह फैसला लिया गया। नए मंत्री शनिवार को शपथ लेंगे। चंद्रबाबू नायडू की अगुआई वाली पिछली तेदेपा सरकार में दो उपमुख्यमंत्री कापू  समुदाय और पिछड़ा वर्ग से थे। वाईएसआर कांग्रेस के विधायक मुस्तफा शेख ने बताया कि कैबिनेट में मिल पांचों डिप्टी सीएम अलग-अलग समुदाय अनुसूचित जाति, अनुसूचित  जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और कापू समुदाय से होंगे। हम सरकार में सभी वर्गों को बराबर प्रतिनिधित्व देने की कोशिश कर रहे हैं। करीब ढाई साल बाद कामकाज की  समीक्षा कर कैबिनेट में बदलाव भी करेंगे। जगनमोहन राज्य के सबसे बेहतर मुख्यमंत्री साबित होंगे। सीबीआई को लेकर नायडू सरकार का फैसला बदला जगनमोहन सरकार ने  गुरुवार को चंद्रबाबू नायडू की सरकार के उस विवादित फैसले को बदल दिया था, जिसके तहत सीबीआई को राज्य में जांच और छापेमार कार्रवाई करने की अनुमति पर रोक लगी  थी। सीबीआई को अब राज्य में किसी भी भ्रष्टाचार या अन्य मामलों में कार्रवाई का पूरा अधिकार होगा। 8 नवंबर 2018 को तत्कालीन तेदेपा सरकार ने सरकारी आदेश जारी कर  उस आम सहमति को वापस ले लिया था, जिसके तहत सीबीआई को राज्य में कार्रवाई का अधिकार मिला था।
जगनमोहन ने विधानसभा चुनाव में चंद्रबाबू को हराया 46 साल के जगनमोहन आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वायएस राजशेखर रेड्डी के बेटे हैं। वे कडपा लोकसभा सीट से सांसद रह  चुके हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव में चंद्रबाबू नायडू को हराया था। चुनाव में वायएसआर कांग्रेस ने 175 में से 151 विधानसभा सीटें अपने नाम कीं, जबकि राज्य में लोकसभा की 25  में से 22 सीटें भी जीतीं।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget