बिहार में मौत की आंधी

पूर्वी चंपारण
बिहार में गुरुवार की रात मौत की आंधी आई। पूर्वी चंपारण जिले के कई हिस्सों में तेज आंधी व ओलावृष्टि तबाही लेकर आई। हवा इतनी तेज थी कि जो भी जहां थे वहीं छुपने की  कोशिश करते रहे। इस दौरान दर्जनों घर ध्वस्त हो गए। आंधी व बारिश के दौरान पांच लोगों की दबकर मौत हो गई। जबकि, 15 से अधिक लोगों के घायल होने की सूचना है। आंधी  के कारण बंजरिया के पचरुखा पंचायत के लमौनिया गांव में पोल से दबकर सुगांती देवी की मौत हो गई। वही सुंदरपुर में बागीचे से घर भाग रही एक किशोरी अफरीन बेगम की  गिरने से मौत हो गई। सिकरहना में मुर्गी फार्म के गिरने से उसमें दबकर तीन लोगों की मौत हो गई व करीब 15 लोग घायल हो गए। आंधी ने दर्जनों लोगों के घरों को क्षतिग्रस्त  कर दिया। शहर की सड़कें व बाजार में उड़ रही धूल के कारण सड़क पर यातायात पूरी तरह ठप हो गया। शाम से शुरू हुई तेज आंधी के कारण लोग घंटों बाजार में घिरे रहे। शहर   व आसपास के कई हिस्सों में जमकर ओलावृष्टि भी हुई। नगर थाना के समीप एक पेड़ जड़ से उखड़ गया। आंधी व ओलावृष्टि से आम, लीची व सŽजी की फसलों को भारी नुकसान हुआ है। जिले के पीपरा, आदापुर, घोड़ासहन, ढाका चिरैया, मुफस्सिल थाना के गढैया व मधुबनी घाट पकड़ीदयाल व फेनहारा में ओलावृष्टि हुई। सिकरहना अनुमंडल के बिसहिया गांव  में एक मुर्गी फार्म के गिरने से तीन लोगों की दबकर मौत हो गई। वहीं घटना में 15 लोग घायल हो गए। मृतकों में हरि महतो के अलावा दो अन्य बताए जा रहे हैं। घटना के संबंध  में बताया कि मोहन महतो की बेटी की शादी होने वाली थी। इसी क्रम में मुर्गी फार्म में भोज का आयोजन होना था। इस कारण वहां काफी लोग उपस्थित थे। घटना में अन्य लोगों ने  किसी प्रकार अपनी जान बचाई। सूचना के बाद एसडीओ ज्ञान प्रकाश व पुलिस पदाधिकारी पहुंचकर शव को कब्जे में ले लिया है। मृतकों में बिसहिया निवासी हरी महतो, शिवहर
निवासी उमाशंकर महतो के अलावा एक अन्य बताया जा रहा है। तेज आंधी के कारण शहर की बिजली आपूर्ति सेवा बाधित रही। शाम को कई घंटों तक लोगों को बिजली की  आपूर्ति से वंचित होना पड़ा। कई इलाकों में देर रात तक विद्युत आपूर्ति बाधित रही। हालांकि आंधी थमने के साथ बिजली सेवा शुरू की गई। मधुबन में तेज आंधी व ओलावृष्टि से  मधुबन प्रखंड क्षेत्र में काफी नुकसान पहुंचा है। पहले तेज हवा ने कई झोपड़ी के घरों को क्षतिग्रस्त कर दिया। आंधी से आम व लीची के तैयार फलों को काफी क्षति होने की बात  बताई गई है। काफी दिनों से भीषण गर्मी झेल रहे लोगों को यह तूफान लाभ पहुंचाने से कहीं ज्यादा नुकसान पहुंचाया है। झमाझम बारिश से खेतों को कुछ राहत जरूर मिली है।  किसान बताते हैं कि गर्मी से खेत जले रहे थे सो कुछ ठंडक मिली है।
तेज आंधी से मधुबन के विभिन्न जगहों पर पेड़ गिरने की सूचना है। मधुबन-चकिया पथ  में सड़क पर गिरने से कुछ देर तक आवागमन बाधित रहा। चिरैया में गुरुवार की संध्या  आई जबरदस्त आंधी में चिरैया के कई गांवों में फूस के घर सहित एसबेस्टस हवा में उड़ गए। पीपराकोठी में भी आंधी से दर्जनों लोगों के घर क्षतिग्रस्त हो गए।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget