गोरखपुर जोन के 10 जिलों के 27 पुलिसकर्मी बर्खास्त

गोरखपुर
गोरखपुर जोन के 10 जिलों में तैनात 27 पुलिस वालों को बर्खास्त कर दिया गया है। यह कार्रवाई 'निष्क्रिय और आपराधिक गतिविधियों में लिप्त पुलिस वालों को बर्खास्त कर घर भेजने' के शासन के निर्देश के तहत हुई है। जनपद स्तर पर गठित स्क्रिनिंग कमेटी को ऐसे पुलिस वालों को चिह्नित करने का काम सौंपा गयाथा। कार्रवाई की जद में एक इंस्पेक्टर, चार उपनिरीक्षक, चार  वान, एक मुख्य चालक, एक लिपिक और 16 सिपाही हैं।एडीजी कार्यालय के अनुसार प्रदेश सरकार ने सभी जिलों के पुलिस प्रमुखों को ऐसे पुलिसकर्मियों को चिह्नित करने का निर्देश दिया था, जिनके विरुद्ध गंभीर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। साथ ही 50 वर्ष की उम्र पार कर चुके उन पुलिस वालों को भी चिह्नित करने का फरमान था, जो आमतौर पर ड््यूटी से गैर हाजिर रहते हैं,  काम करने में अक्षम हैं या लंबे समय से बीमार हैं। डीजीपी ने ऐसे पुलिस वालों को चिह्नित करने के लिए जिला स्तर पर कम से कम तीन राजपत्रित अधिकारियों की स्क्रीनिंग कमेटी गठित  करने का निर्देश दिया था। पुलिसकर्मियों की चरित्र पंजिका और उनके कार्य-व्यवहार को आधार बनाकर निष्क्रिय, बीमार और आपराधिक गतिविधियों में लिप्त पुलिस वालों को चिह्नित करना था।
सिपाही और दीवान की नियुक्ति, पुलिस अधीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक करते हैं। इसी तरह से इंस्पेक्टर और उपनिरीक्षक का नियुक्ति रेंज में आईजी या डीआईजी जो भी तैनात होता है, वही करता है। नियमानुसार नियुक्ति प्राधिकारी ही कर्मचारी की बर्खास्तगी कर सकता है। जोन में बर्खास्त एक इंस्पेक्टर और चार उपनिरीक्षकों के विरुद्ध आईजी/डीआईजी स्तर से कार्रवाई की गई है।  अन्य पुलिस वालों को संबंधित जिले के कप्तान ने बर्खास्त किया है। जोन के 11 जिलों में से 10 जिलों ने दागी, निष्क्रिय और लापरवाह पुलिस वालों को चिह्नित कर कार्रवाई के बाद एडीजी  जोन कार्यालय को रिपोर्ट भेजी है। गोरखपुर जिले में ऐसे पुलिस वालों को चिह्नित करने का काम अभी पूरा नहीं हो पाया है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget