गंभीरता से न लें, यह गीदड़ भभकी है

अल-कायदा चीफ के बयान पर विदेश मंत्रालय ने कहा


नई दिल्ली
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने अल-कायदा के सरगना अल जवाहिरी की भारत को दी गई धमकी पर प्रतिक्रिया दी है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि ऐसी धमकियां हम सुनते रहते हैं, मुझे नहीं लगता कि हमें इन्हें गंभीरता से लेना चाहिए ये गीदड़ भभकियां है। बता दें कि जवाहिरी ने बुधवार को एक वीडियो जारी कर 'कश्मीर में  मुजाहिदीनों' से भारतीय सेना और सरकार पर हमले जारी रखने को कहा था। रवीश कुमार ने कहा कि 'हमारे सुरक्षाबल क्षेत्रीय संप्रभुता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए पूरी तरह  तैयार और सक्षम हैं। हमें ऐसी किसी भी धमकी को गंभीरता से लेने की जरूरत नहीं है।' अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी संगठन अलकायदा के प्रमुख अयमान अल जवाहिरी ने एक वीडियो  मेसेज जारी कर 'कश्मीर में मुजाहिदीनों' से कहा था कि वे भारतीय सेना और सरकार पर निरंतर हमले करते रहें। यह मेसेज अलकायदा के मीडिया विंग अल शबाब ने जारी किया  था। जवाहिरी ने यह भी बताया कि किस तरह से पाकिस्तान कश्मीर में सीमापार आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है। अलकायदा की ओर से जारी संदेश का शीर्षक है, 'कश्मीर को न  भूलें।' अपने संदेश में जवाहिरी ने कहा कि '(मैं) समझता हूं कि कश्मीर में मुजाहिदीन को वर्तमान स्तर पर केवल भारतीय सेना और सरकार पर हमले पर फोकस करना चाहिए।  इससे भारतीय अर्थव्यवस्था कमजोर होगी और उसे कामगारों और सामानों की कमी होगी।' जवाहिरी ने जहां हाल ही में मारे गए आतंकवादी जाकिर मूसा का जिक्र नहीं किया, लेकिन  अंसार गजवत-उल-हिंद के इस संस्थापक की तस्वीर स्क्रीन पर दिखाई दी। मूसा कश्मीर घाटी में अलकायदा का चीफ था। सेना में भर्ती के लिए पहुंचे कश्मीरी युवा अल-कायदा  सरगना जवाहिरी की इस धमकी का कश्मीरी युवाओं पर कोई असर नहीं पड़ा है। इस बात का जीताजागता उदाहरण इससे नजर आता है कि बुधवार को करीब 5500 कश्मीरी युवा  सेना में भर्ती होने के लिए पहुंचे। सेना में शामिल होने आए एक युवा ने कहा कि 'मैं सभी को आह्वान करूंगा कि वे भारतीय सेना में शामिल हों।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget