सीएम आवास में गूंजी गुरुबानी और चला लंगर

लखनऊ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर गुरुनानक देव जी महाराज के प्रकाश उत्सव पर उनके जीवन पर प्रकाश डाला। आज उस मुख्यमंत्री आवास पर गुरुबानी की  गूंज काफी चर्चा में है, जहां कभी रोजा इफ्तार का आयोजन होता था। श्रीगुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसरपर मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास पर शबद-कीर्तन और लंगर  योजन  किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  कार्यक्रम में शामिल हुए और माथा टेका। इस कार्यक्रम को संबोधित करते सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब बाबर के अत्याचार से धरती कांप  रही थी, तब भी गुरु नानक जी ने उसकी बर्बरता के खिलाफ आवाज उठाने में कोई कमी नहीं छोड़ी थी। उन्होंने कहा कि शस्त्र और शास्त्र का जो समन्वय यहां है वैसा कहीं भी नहीं है। सीएम  योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूरी सरकार और समाज मिल कर योजना बनाएं कि गुरू नानक जी से जुड़ेस्थलों को कैसे बड़े स्तर पर बढ़ा सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज कोई भी ऐसा भारतीय  नहीं है जो गुरु परंपरा का सम्मान नहीं करता है।सीएम योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर गुरुबानी भी गूंजी। लंगर छकने के बाद उन्होंने कानपुर से आ रही प्रकाश यात्रा को अयोध्या के  लिए रवाना किया। मुख्यमंत्री आवास पर मंगलवार को दिन में गुरु नानक देव जी महाराज के प्रकाश उत्सव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथने कहा कि जब बाबर के अत्याचार से हमारी धरती  कांप रही थी, तब सिख गुरु गुरुनानक ने आवाज उठायी थी। उन्होंने कहा कि गुरुनानक जी का काम सिर्फ सिख समुदाय के लिए नहीं, देश की रक्षा के लिए भी था। गुरुनानक देव जी ने मक्का- मदीना में भी जाकर वहां पर लोगों की आंखों को खोलने वाले चमत्कार करके दिखाए। यह उनके जीवन का हिस्सा नहीं था लेकिनउन्होंने इसको बखूबी दिखाया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा  कि जिन लोगों को उनकी आध्यात्मिक ताकत का अनुभव नहीं था, वे स्वयं उनके संंपर्क में आकर प्रभावित होने से नहीं बचते थे। आज से 550 वर्ष पहले साधन नहीं थे। आज उन तमाम पवित्र  स्थलों पर जाने के लिए हम लोग आलस्य करते हैं। याद करिए गुरुनानक देव जी के समय में साधन नहीं थे, उस समय संचार के कुछ भी माध्यम नहीं थे, लेकिन उन्होंने कहां-कहां तक की यात्रा  की। प्रकाशोत्सव के अवसर पर योगी ने कहा कि पूरी सरकार और समाज मिल कर योजना बनाएं कि गुरू नानक जी से जुड़े स्थलों को कैसे बड़े स्तर पर बढ़ा सकते हैं। सिख समाज के संगत  को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गुरु नानक देव जी से जो परंपरा शुरू हुई थी, वह सिर्फ सिखों के ही नहीं, बल्कि देश की सुरक्षा के लिए था। सीएम योगी आदित्यनाथ  ने कहा कि हम गुरुनानक देव जी से जुड़े हुए उन स्थलों के बारे में सोचें, जो उत्तर प्रदेश के अंदर हैं। उनका विकास कैसे हो, वहां पर आने वाले श्रद्धालुजनों की बुनियादी सुविधाओं के लिए हम   कर सकते हैं। सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक जी के 550वें प्रकाश उत्सव के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास पर मंगलवार को कीर्तन भी आयोजित किया गया। इसमें सीएम के साथ डिप्टी  सीएम डॉ. दिनेश शर्मा व केशव प्रसाद मौर्य तथा आधा दर्जन कैबिनेट मंत्री भी मौजूद थे। इस अवसर पर उनकी शिक्षाओं के प्रसार के लिए एक यात्रा व कीर्तन और लंगर का भी आयोजन किया   रहा है। श्री गुरु नानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव के सिलसिले में कानपुर के गुरुद्वारा बाबा नामदेव से श्री गुरुनानक संदेश यात्रा निकाली गई। यात्रा सुबह 11 बजे मुख्यमंत्री आवास पहुंची। इस  दौरान शबद-कीर्तन और लंगर छकने की व्यवस्था की गई। सीएम आवास पर कार्यक्रम के बाद यात्रा अयोध्या के लिए रवाना हो गई। 
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget