राज्य की तरक्की में सिखों का महत्वपूर्ण योगदान: राज्यपाल

मुंबई
राज्यपाल विद्यासागर राव ने कहा कि मुंबई और महाराष्ट्र की प्रगति और विकास में सिख समुदाय का महत्वपूर्ण योगदान है। वे गुरुनानक विद्याक सोसाइटी की तरफ से गुरु तेग बहादुर नगर  स्थित गुरुनानक कला, विज्ञान व वाणिज्य महाविद्यालय में गुरुनानक देव की 550वीं जयंती के निमित्त गुरुनानक का जीवन और विरासत विषय पर आयोजित अंतर धर्म चर्चा सत्र के  उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे। राज्यपाल ने कहा कि 1947 में विभाजन के बाद स्थानांतरित हुए परिवारों के बच्चों की शिक्षा के लिए स्थापित गुरनानक विद्याक संस्था आज वटवृक्ष में  तब्दील हो गई है। इस संस्था के 38 शिक्षा संस्थान हैं, जिनमें 25 हजार छात्र अध्ययन करते हैं। गुरुनानक विद्याक सोसाइटी ने अपने कार्य, समता, सेवा और मानवता की सिख धर्म की सीख  प्रत्यक्ष में उतारी है। मुंबई और महाराष्ट्र के विकास में सिख समुदाय का योगदान बेहद महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि पंजाब और महाराष्ट्र के बीच बड़ा भौगोलिक अंतर है इसके बावजूद  अध्यात्म, मानवता और मूल्यों के माध्यम से दोनों राज्य एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। 13वीं शताब्दी में संत नामदेव ने भागवत धर्म की पताका पंजाब में फैलाई  और अपना शेष जीवन वहीं  व्यतीत किया। इसी तरह सिखों के 10वें गुरु गुरु गोविंद सिंह महाराष्ट्र के नांदेड में आए और धर्म की रक्षा का उपदेश दिया। राज्यपाल ने कहा कि गुरुनानक भारत के महान संतों में से एक  थे। गुरुनानक देव का दुनिया को दिया गया सबसे बड़ा उपहार सिख धर्म है तथा गुरुग्रंथ साहिब मानवता को दिया उत्कृष्ट उपहार है, जिसने जनता को अज्ञान के अंधेरे से ज्ञान के प्रकाश में  लाने का काम किया है। इस मौके पर विधायक सरदार तारा सिंह, मौलाना आजाद विद्यापीठ के कुलगुरू पद्मश्री प्राध्यापक अख्तरुल वासे, मोजांबिक और स्वीट्जरलैंड के पूर्व भारतीय उच्चायुक्त  डॉ. जसपाल सिंह, गुरु नानक विद्याक सोसायटी के अध्यक्ष सरदार मनजीत सिंह भट्टी, व्यवस्थापन समिति के सदस्य सरदार बचन सिंह धाम, सरदार सर्दुल सिंह, गुरू नानक कला, विज्ञान व  वाणिज्य महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. पुष्पिंदर भाटिया आदि उपस्थित थे। इस दौरान राज्यपाल ने राज्य के पूर्व पुलिस महासंचालक डॉ पीएस पसरिचा को पहला राय बुलर भट्टी स्मृति पुरस्कार प्रदान किया।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget