ब्रिटेन के युद्धक जहाज ने ईरान के प्रयास को रोका

नई दिल्ली
ब्रिटेन की सरकार ने गुरुवार को कहा कि ईरान की हथियारों से लैस नौकाओं ने खाड़ी क्षेत्र में एक ब्रिटिश सुपर टैंकर के मार्ग को बाधित करने की कोशिश की, लेकिन उसके एक  युद्ध-पोत ने हस्तक्षेप करके उसे विफल कर दिया। ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड ने इस घटना में अपनी संलिप्तता से इंकार किया है। हालांकि, जिब्राल्टर के पास ईरान के स्वामित्व  वाले एक टैंकर को पिछले सप्ताह ब्रिटेन की नौसेना के जŽत कर लेने पर अमेरिका और ब्रिटेन दोनों को आगाह किया कि वे काफी पछताएंगे। जिब्राल्टर पुलिस ने इस चेतावनी को  नजरअंदाज करते हुए जŽत ईरानी टैंकर के भारतीय कैप्टन और अधिकारी की गिरफ्तारी की घोषणा की। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को ट्वीट करके अमेरिकी दबाव बढ़ा  दिया कि बढ़ी हुई परमाणु गतिविधियों को लेकर ईरान पर जल्द ही काफी प्रतिबंध बढ़ाया जाएगा।
तेजी से बदले घटनाक्रम ने ईरान के साथ 2015 के परमाणु समझौते को बचाने के ब्रिटेन और उसके यूरोपीय सहयोगियों के प्रयासों को और जटिल बना दिया है। ईरान के साथ  परमाणु समझौते से अमेरिका पहले ही बाहर हो चुका है। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि तीन ईरानी नौकाओं ने ब्रिटिश हेरिटेज नामक एक वाणिज्यिक जहाज के 'मार्ग को बाधित  करने की कोशिश की। 274 मीटर लंबे टैंकर का स्वामित्व ऊर्जा क्षेत्र की बड़ी ब्रिटिश कंपनी बीपी के पास है और यह 10 लाख बैरल तेल ले जा सकता है।
डाउनिंग स्ट्रीट के एक प्रवक्ता ने कहा कि ''हम इस कार्रवाई से चिंतित हैं और ईरानी अधिकारियों से क्षेत्र में हालात को बेहतर करने के लिए आग्रह करते हैं। बताया जाता है कि  ब्रिटेन अब विचार कर रहा है कि खाड़ी में अन्य नौसैनिक संसाधन भेजे जाएं या नहीं। एक खबर में कहा गया है कि परिवहन मंत्रालय ने हाल के दिनों में सभी ब्रिटिशध्वज वाले  वाणिज्यिक जहाजों को इस क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा के साथ जाने का नया दिशा-निर्देश जारी किया था। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि ''तीन ईरानी जहाजों ने होर्मुज जलडमरू मध्य  में वाणिज्यिक पोत ब्रिटिश हेरिटेज के मार्ग को बाधित करने का प्रयास किया।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget