कर्नाटक की तरह मुश्किल में राजस्थान सरकार!

जयपुर
राजस्थान में भाजपा नेताओं का मानना है कि गोवा और कर्नाटक की तरह प्रदेश में भी कांग्रेस के हालात सही नहीं हैं। भाजपा विधायक कह रहे हैं कि राजस्थान सरकार गिर सकती है, क्योंकि  इसका डर कांग्रेस नेताओं में साफ नजर आ रहा है। वहीं, कांग्रेस ने भाजपा के इस बयान को पूरा न होने वाला सपना करार दिया है। भाजपा विधायक वासुदेव देवनानी ने मुख्यमंत्री अशोक  गहलोत के बयान को लेकर विधानसभा परिसर में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद से कांग्रेस विधायक भयभीत हैं। उन्होंने कहा कि गहलोत असुरक्षित महसूस कर रहे थे इसीलिए वह बयान दे रहे थे कि राज्य के लोग उन्हें मुख्यमंत्री बनाना चाहते थे। देवनानी ने कहा कि अगर हर गांव के लोग गहलोत को सीएम बनाना  चाहते थे, तो वह अपने ही बूथ से चुनाव न हारते।
बता दें कि अशोक गहलोत ने कहा था कि अगर किसी को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया जाना था, तो वह सिर्फ अशोक गहलोत था कोई और नहीं। प्रदेश की जनता उन्हें सीएम बनाना चाहती  थी। भाजपा विधायक अशोक लाहोटी ने कहा कि गहलोत द्वारा 10 जुलाई को पेश किया गया बजट उनका आखिरी बजट होगा। गहलोत हर कुछ दिनों के बाद दिल्ली के लिए रवाना हो रहे हैं।  इससे मालूम होता है कि पार्टी में चीजें ठीक नहीं हैं। राजस्थान में दो महीनों में राजनीतिक अस्थिरता होगी। भाजपा विधायक कालीचरण सराफ ने राजस्थान में मध्यावधि चुनाव की  भविष्यवाणी करते हुए कहा कि गहलोत और पायलट के बीच अनबन ने सरकार को खतरे में डाल दिया है और यह कभी भी गिर सकती है। भाजपा नेताओं के बयान पर कांग्रेस ने निशाना  साधा है। कांग्रेस मंत्री बीडी कल्ला ने कहा कि राजस्थान सरकार को कोई खतरा नहीं है और पार्टी एकजुट है। उन्होंने कहा कि भाजपा नैतिकता की बात करती है, लेकिन दूसरी ओर यह   लोकतांत्रिक रूप से चुनी हुई सरकारों को गिराने की कोशिश कर रही है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget