'अच्छी बारिश कराओ भगवान विठ्ठल'

मुंबई
मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने शुक्रवार को आषाढ़ी एकादशी के मौके पर पंढरपुर में भगवान विठ्ठल और देवी रुम्मिणी की महापूजा की। वारकरी विठ्ठल चव्हाण और प्रयागबाई चव्हाण  को मुख्यमंत्री और उनकी पत्नी अमृता फड़नवीस के साथ अनुष्ठान का अवसर मिला। महापूजा के बाद विठ्ठल मंदिर समिति की तरफ से सभामंडप में मुख्यमंत्री का सम्मान किया  गया। महापूजा के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने भगवान विठ्ठल से राज्य में अच्छी बारिश कर सूखा दूर करने तथा लोगों की शांति और समृद्धि की प्रार्थना की। इस दौरान  पालक मंत्री विजयकुमार देशमुख, कृषि मंत्री डॉ. अनिल बोंडे, सामाजिक न्यायमंत्री सुरेश खाडे, जल आपूर्ति और स्वच्छता मंत्री बबनराव लोणीकर, जल संसाधन राज्यमंत्री विजय  शिवतारे, गृह राज्यमंत्री दीपक केसरकर, विठ्ठल मंदिर समिति के अध्यक्ष डॉ. अतुल भोसले, सह-अध्यक्ष गहिनीनाथ महाराज औसेकर, सांसद रणजीत सिंह नाईक-निंबालकर और अन्य उपस्थित थे।

पंढरपुर यात्रा की परंपरा
मुख्यमंत्री फड़नवीस ने कहा कि पंढरपुर की यात्रा की सैकड़ों वर्षों की परंपरा है। महाराष्ट्र में अंग्रेज़ों द्वारा किए गए आक्रमणों के समय, वारी और वारकरियों द्वारा धर्म और संस्कृति  को जीवित रखने के लिए कार्य किया गया है। पिछले कई सालों से अनुशासित तरीके से यात्रा निकलती है। इससे सकारात्मक माहौल बनता है। इस सकारात्मक शक्ति का इस्तेमाल  महाराष्ट्र को हरित, समृद्ध और हरे-भरे जंगलों बनाने के लिए किया जाएगा। सामाजिक संस्थाओं की मदद से सैकड़ों साल पुरानी परंपरा को निभाते हुए वारी को साफ और स्वच्छ  करने के लिए सरकार कोशिश कर रही है। मुख्यमंत्री फड़नवीस ने वारकरियों से इस कार्यक्रम में भाग लेने की अपील की है।

नमामि चंद्रभागा अभियान में शरीक होने की अपील
छत्रपति शिवाजी महाराज ने महाराष्ट्र को जनभावना और जनता का सम्मान करने की शिक्षा दी। उन्होंने कहा कि यह प्रेरणा मराठा और धनगर समुदाय को न्याय दिलाने के लिए की  गई है। पिछले दो वर्षों में मंदिर समिति द्वारा शुरू किए गए कार्यों की प्रशंसा करते हुए चंद्रभागा नदी के शुद्धिकरण के लिए सरकार द्वारा 'नमामि चंद्रभागा' अभियान में सभी  कार्यकर्ताओं से सक्रिय रूप से भाग लेने की अपील की गई है। हर साल राज्य के मौजूदा मुख्यमंत्री की तरफ से पंढरपुर में महापूजा की परंपरा है। मुख्यमंत्री के रूप में फड़नवीस वर्ष  2015, 2016, 2017 में महापूजा कर चुके हैं। पिछले साल मराठा आंदोलन की वजह से मुख्यमंत्री महापूजा में शामिल नहीं हो सके थे और यह पूजा सीएम के सरकारी आवास वर्षा  में आयोजित की गई थी।

प्रदर्शनी का किया दौरा
पंढरपुर कृषि उत्पन्न बाजार समिति की तरफ से आयोजित कृषि पंढरी में सूचना एवं जनसंपर्क महानिदेशालय द्वारा सरकार की विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान करने के लिए प्रदर्शनी आयोजित की गई है। मुख्यमंत्री ने इस प्रदर्शनी का दौरा किया। इस प्रदर्शनी में किसानों- वारकरियों को सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देने  के लिए सुचना बोर्ड लगाए गए हैं। मुख्यमंत्री ने इन सूचना बोर्डों की समीक्षा की।

नमामि चंद्रभागा पर वृत्तचित्र
नमामि चंद्रभागा परियोजना पर डाक्यूमेंट्री और शॉर्ट फिल्म का अनावरण मुख्यमंत्री के हाथों किया गया। यह डाक्यूमेंट्री और शार्ट फिल्म विभागीय आयुक्त डॉ. दीपक म्हैसेकर के  मार्गदर्शन में बनाई गई है। डाक्यूमेंट्री में भीमा नदी के नाम का उल्लेख किया गया है और बाद में इसे पंढरपुर में चंद्रभागा नदी के नाम से जाना जाता है। हालांकि बढ़ते प्रदूषण के  कारण नदी की पवित्रता बरकरार नही रही। इस डाक्यूमेंट्री के माध्यम से यह संदेश देने का प्रयास किया गया है कि हम सभी को नदी को प्रदूषित होने से रोकना है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget