हाईस्पीड ट्रेनों के लिए 13491 करोड़ खर्च करेगा रेलवे

लखनऊ
दिल्ली से हावड़ा और दिल्ली से मुंबई के बीच ट्रेन 160 किलोमीटर की रफ्तार से ट्रेन चलेगी। इसके लिए केंद्र सरकार ने करीब 13 हजार करोड़ रुपए की मंजूरी दी है। इससे दिल्ली और हावड़ा के बीच सफर का समय करीब 5 घंटे कम हो जाएगा, जबकि दिल्ली से मुंबई पहुंचने में साढ़े 3 घंटे कम समय लगेगा। रेलवे ने इन दोनों रूटों पर ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने  के लिए अपने 100 दिन के एजेंडे में प्लान बनाया था। दिल्ली-हावड़ा रूट पर कानपुर और लखनऊ दोनों लाइनों को दुरुस्त किया जाएगा। इस पर रेलवे करीब 6685 करोड़ रुपए खर्च  करने जा रहा है, जबकि दिल्ली-मुंबई रूट पर रेलवे 6806 करोड़ रुपए खर्च करने जा रहा है। ये दोनों ही काम 202223 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने  के लिए इन रूटों पर फेंसिंग की जाएगी यानि ट्रैक को दोनों तरफ से घेर दिया जाएगा ताकि ट्रैक पर बाहर कोई न आ सके। इसके साथ ही सुरक्षा के लिहाज से ऑटोमैटिक ट्रेन  प्रोटेशन सिस्टम, मोबाइल रेडियो कम्युनिकेशन सिस्टम लगाया जाएगा। इन दोनों रूट्स पर जो काम किया जाएगा उससे करीब 7 करोड़ श्रम दिवस का रोजगार भी पैदा होगा। एक  बार इन दो रूट्स पर 160 की स्पीड में ट्रेन चलने के बाद रेलवे की योजना पूरे गोल्डन क्वाड्रिलेट्रल और उसके डायगोनल पर ट्रेनों को 160 की स्पीड में चलाने के लिए काम करेगा।  यानि दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता को आपस में जोड़ने वाले सभी रूट्स पर ट्रेनों की अधिकतम स्पीड 160 कर दी जाएगी। खास बात ये है कि गोल्डन क्वाड्रिलेट्रल और  उसके डायगोनल पर रेलवे के महज 16% ट्रैक बिछे हुए हैं लेकिन इन रूटों पर रेलवे के 52% मुसाफिर सफर करते हैं, जबकि 60% मालगाड़ियां इसी ट्रैक पर चलती हैं।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget