370 हटने पर खुश थीं सुषमा : पीएम

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को आयोजित श्रद्धांजलि सभा में पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को याद करते हुए कई बातें बताईं। पीएम ने सुषमा स्वराज के स्वभाव, कृष्ण  भक्ति, अनुशासन, अनुच्छेद 370 पर खुशी, सक्त फैसले, प्रोटोकॉल समेत कई बातों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सुषमा जी सबके लिए प्रेरणा का स्रोत थीं। व्यवस्था के तहत,  अनुशासन के तहत, जो भी काम मिले उसे जी जान से करना और व्यक्तिगत जीवन में ऊंचाई प्राप्त करने के बाद भी करना, कार्यकर्ता के लिए इससे बड़ी प्रेरणा कोई हो नहीं सकती  है। जब चुनाव न लड़ने का लिया फैसला पीएम ने कहा कि इस बार उन्होंने (सुषमा) चुनाव न लड़ने का फैसला किया। एक बार उन्होंने पहले भी ऐसा किया था। तब मैं और वेंकैया  जी उनसे मिले। उन्होंने मना किया, लेकिन जब उनसे कहा गया कि आप कर्नाटक जाइए और विशेष परिस्थिति में इस चुनाव में लड़िए। परिणाम करीब-करीब निश्चित था, लेकिन  यह चुनौती भरा काम था, पार्टी के लिए उन्होंने यह काम किया। इस बार मैं उनको समझाता था कि सब संभाल लेंगे, लेकिन इस बार उन्होंने किसी की नहीं सुनी। वह अपने विचारों 
की पक्की थी।

नतीजे आते ही मकान किया खाली
कोई सांसद जब सांसद नहीं रहता है, लेकिन सरकार को उसका मकान खाली कराने के लिए सालों तक नोटिस भेजना पड़ता है। सुषमा जी ने सब कुछ समेटने का तय कर लिया  था। चुनाव परिणाम आए, उनका दायित्व पूरा हुआ तो उन्होंने पहला काम यह किया कि मकान खाली करके अपने निजी निवास पर चली गईं।

पीएम से जय श्रीकृष्ण कहती थीं सुषमा
पीएम मोदी ने कहा कि उनका भाषण प्रभावी होने के साथ प्रेरक भी होता था। वे कृष्ण भक्ति को समर्पित थीं। हम जब भी मिलते थे वह मुझे जय श्रीकृष्ण कहती थीं, मैं उन्हें जय  द्वारकाधीश कहता था, लेकिन कृष्ण का संकेत वह जीती थीं। उनके जीवन को देखें तो पता चलता है कि कर्मण्येवाधिकारस्ते क्या होता है। पीएम ने कहा कि अब जीवन की विशेषता  देखिए, उन्होंने सैकड़ों फोरम में जम्मू-कश्मीर की समस्या पर बोला होगा। आर्टिकल 370 पर बोला होगा, एक तरह से उसके साथ वह जी जान से जुड़ी थीं। जब जीवन का इतना  बड़ा सपना पूरा होता है और खुशी समाती न हो... सुषमा जी के जाने के बाद जब मैं बांसुरी से मिला तो उन्होंने कहा कि इतनी खुशी-खुशी वह गईं हैं कि उसकी कल्पना करना मुश्किल है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget