बाढ़ प्रभावित प्रति परिवार को 5 हजार की नकद सहायता

मुंबई
बाढ़ से प्रभावित नागरिकों को प्रति परिवार नकद पांच हजार रुपए की आर्थिक सहायता तत्काल वितरित करने तथा बची रकम बैंक खाते में जमा करने के निर्देश मुख्यमंत्री देवेंद्र  फड़नवीस ने दिए हैं। मंत्रालय स्थित राज्य आपातकालीन कक्ष में पहुंचकर मुख्यमंत्री ने राज्य में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की। इस अवसर पर मुख्य सचिव अजोय मेहता, आपत्ति  व्यवस्थापन, मदद व पुनर्वसन सचिव किशोर राजे निंबालकर, सूचना व जनसंपर्क सचिव ब्रिजेश सिंह, मंत्रालय नियंत्रण कक्ष के सहसचिव अरुण उन्हाले, आपत्ति निवारण प्रभाग के  संचालक अभय यावलकर उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने प्रभावित नागरिकों को नकद रकम के वितरण के अलावा खराब पड़ी जलापूर्ति योजनाओं को तत्काल ठीक कर नागरिकों को  स्वच्छ पानी उपल ध कराने के निर्देश दिए।  साथ ही प्रभावित गांवों में स्वच्छता मुहिम को वरीयता देते हुए सड़क, पुल की मरम्मत के साथ गांवों में जनजीवन को सामान्य बनाने  के लिए तत्काल उपाय योजना लागू करने के निर्देश भी दिए। सीएम ने कहा कि स्वच्छता मुहिम में सरकारी, अर्धसरकारी, निजी स्तर पर होने वाली सभी मशीनरी को काम में  लगाया जाए। प्रभावित गांवों में दवा का छिड़काव, बाढ़ से प्रभावित परिवारों की आर्थिक मदद सहित पेट्रोल, डीजल व गैस की आपूर्ति करने के निर्देश दिए गए। उन्होंने खंडित बिजली  आपूर्ति को तत्काल शुरू करने तथा शिरोल में तत्काल चारा पहुंचाने के निर्देश दिए। महामार्ग पर जिन जगहों पर बारबार पानी जमा होने से यातायात बाधित होता है, ऐसे स्थानों पर  ओवरब्रिज बनाने के प्रस्ताव देने के निर्देश दिए गए। सांगली में आपत्ति व्यवस्थापन की मदद के लिए कवलापुर में एयरपोर्ट बनाने को लेकर सूचना दी गई। राज्य में 10 जिलों में  आई बाढ़ से 70 तालुका व 761 गांव प्रभावित हुए हैं।
4,47,695 नागरिकों को सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया गया है। राहत और बचाव कार्य में एनडीआरएफ की 32 टीमें, एसडीआरएफ की 3 टीमें, आर्मी की 21 टीमें, नेवी की 41 टीमें,  कोस्टगार्ड की 16 टीमें लगी हुई हैं। 226 बोटों के जरिए बचाव कार्य शुरू है। बाढ़ की वजह से 32 लोगों की मौत हो गई तथा चार लोग घायल हुए हैं। 48 जानवरों के की मौत हुई  है। कोल्हापुर में पानी का स्तर 1 फीट 11 इंच व सांगली में 3 फीट नीचे उतर गया है।

राज्य में 802.70 मिमी बारिश
राज्य में रविवार तक 802.70 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है। यह औसतन 109.70 फीसदी है। पिछले साल अभी तक 79.22 फीसदी बारिश हुई थी। राज्य में अभी तक 58  फीसदी पानी का स्टॉक जमा हो चुका है। जायकवाड़ी बांध 80 फीसदी तथा उजनी बांध 100 फीसदी भर चुका है। इस बात की जानकारी व्यवस्थापन, मदद व पुनर्वसन सचिव किशोर  राजे निंबालकर ने बैठक के दरम्यान मुख्यमंत्री को दी।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget