अयोध्या पर पांचो दिन सुनवाई

नई दिल्ली
सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या केस में रोजाना सुनवाई पर मुस्लिम पक्ष के विरोध को खारिज कर दिया है। लगातार चौथे दिन सुनवाई के दौरान कोर्ट ने सोमवार से शुक्रवार तक, हर दिन  सुनवाई करने का फैसला किया। सुनवाई की शुरुआत में ही मुस्लिम पक्ष ने रोजाना सुनवाई का विरोध किया था। तैयारी करने के लिए समय न मिल पाने की मुस्लिम पक्ष की  दलील को बाद में सुप्रीम कोर्ट ने नकार दिया। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन से कहा कि पहले के आदेश की तरह हम रोजाना सुनवाई करेंगे।  कोर्ट ने धवन को आश्वासन भी दिया कि उन्हें बहस के लिए तैयारी करने के लिए मिड-वीक ब्रेक देने पर विचार किया जाएगा। सोमवार को छुट्टी है, इसलिए मंगलवार को अगली
सुनवाई होगी।
बता दें कि चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस धनंजय वाई चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. अब्दुल नजीर वाली पांच सदस्यों की  संवैधानिक पीठ ने दोनों पक्षों की दलीलों को सुना। राजीव धवन, (मुस्लिम पार्टी के वकील) ने कहा कि ऐसी बातें कही जा रही है कि कोर्ट पांचों दिन सुनवाई करेगा। हमें इस पर  आपत्ति है। अगर हक्ते में 5 दिन सुनवाई होती है तो यह अमानवीय है। ऐसे में हम कोर्ट के साथ कैसे चल पाएंगे। सुनवाई में ऐसे जल्दी नहीं की जा सकती। ऐसे में मुझे केस छोड़ने पर मजबूर होना होगा।
चीफ जस्टिस, रंजन गोगोई ने कहा कि हमने आपकी शिकायत सुन ली है। हम रोज सुनेंगे। जब आपकी बारी आएगी और आप ब्रेक चाहेंगे, तो हम उसे देख लेंगे। राजीव धवन का  कहना था कि सुप्रीम कोर्ट इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के बाद पहली अपील पर सुनवाई कर रही है और इसलिए इसमें जल्दबाजी नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि पहली अपील  में दस्तावेजी साक्ष्यों का अध्ययन करना होगा। अनेक दस्तावेज उर्दू और संस्कृत में हैं जिनका अनुवाद करना होगा। उन्होंने कहा कि संभवत: जस्टिस चन्द्रचूड़ के अलावा किसी अन्य   जज ने हाई कोर्ट का फैसला नहीं पढ़ा होगा। धवन ने कहा कि अगर अदालत ने सभी 5 दिन इस मामले की सुनवाई करने का निर्णय लिया है, तो वह इस मामले से अलग हो सकते  हैं। इस पर सीजेआई ने कहा कि हमने आपके कथन का संज्ञान लिया है। हम शीघ्र ही आपको बताएंगे। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में एक मूल पक्षकार एम. सिद्दीक और  अखिल भारतीय सुन्नी वक्फ़ बोर्ड की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव धवन की आपत्ति खारिज कर दी।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget