नौ राज्यो में बाढ़ का कहर

221 लोगों की मौत



मुंबई/अहमदाबाद/तिरुअनंतपुरम बैंग्लोर
देश के पश्चिमी हिस्से से लेकर दक्षिण के राज्यों तक बाढ़ का कहर लगातार बढ़ रहा है। केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश सहित देश भर के कई राज्यों में बाढ़ से   तबाही मची हुई है। बाढ़ के चलते अब तक नौ राज्यों में 221 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। मौसम विभाग ने केरल में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की आशंका जताई  है.एनडीआरएफ की टीमें और सेना बचाव कार्य में जुटी हैं। केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात में 125 से ज्यादा लोगों की मौत की खबरें हैं। बचाव एवं राहत एजेंसियों के  मुताबिक केरल में बाढ़ से सबसे ज्यादा लोगों की मौत हुई है। महाराष्ट्र में 27 लोगों की मौत की खबर है। यही नहीं अभी कई और दिनों तक भीषण बारिश रहने की आशंका है और  इसे देखते हुए केरल सरकार ने मिलिट्री टीमों को रेस्क्यू यूनिट्स बनाकर अभियान चलाने और फंसे हुए लोगों को एयरलिफ्ट करने का आदेश दिया है। इस बीच केरल में  भूस्खलन  में दबे 9 लोगों के शव बरामद हुए हैं।
मलप्पुरम जिले में 8 अगस्त को भूस्खलन हो गया था। कोस्टगार्ड ने अपने ट्वीट में 3 राज्यों में फंसे हुए 2,200 नागरिकों को बचाने की जानकारी दी है। कर्नाटक में कम से कम  24 लोगों के मारे जाने और 9 लोगों के लापता होने की खबर है। सूबे में 600 राहत कैंप बनाए गए हैं और उनमें 1,61,000 लोगों को शिफ्ट किया गया है। कर्नाटक एक अधिकारी ने बताया कि उत्तर कर्नाटक, तटीय इलाके और पश्चिमी घाट बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं।

कर्नाटक ने केंद्र सरकार से मांगी 3,000 करोड़ की मदद
बाढ़ के चलते कर्नाटक में 6,000 करोड़ रुपए के नुकसान का अनुमान है। चीफ मिनिस्टर बीएस एदियुरप्पा ने इसे बीते 45 वर्षों में राज्य पर आई सबसे बड़ी प्राकृतिक आपदा करार  दिया है। केंद्र सरकार से उन्होंने 3,000 करोड़ रुपए की राशि की मांग की है। एदियुरप्पा ने कहा कि एनडीआरएफ की 20 टीमें, सेना की 10 टीमें, नौसने की 5 टीमें और राज्य  आपदा प्रबंधन की दो टीमें बचाव एवं राहत कार्यों में जुटी हैं।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget