कोर्ट की चर्चा मे अमर्यदित आचरण पर नाराज सीजीआई गोगाई

नई दिल्ली
सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई जूडिशरी में अमर्यादित चर्चा को लेकर चिंता जाहिर की है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि जूडिशरी अमर्यादित आचरण के अभूतपूर्व तरीके से  बढ़ते मामलों की गवाह बन रही है । उन्होंने इस बात पर अफसोस जताया कि गरिमापूर्ण तरीके से होने वाली चर्चाओं और बहस की जगह अदालतों में मुखर आचरण अपनाया जा  रहा है। उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि पक्षकारों द्वारा न्यायपालिका की गरिमा और व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए इनकी तेजी से पहचान हो और इन्हें अलग-थलग किया  जाए। जस्टिस गोगोई ने नई दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के लॉन में स्वतंत्रता दिवस समारोह पर उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस मौके पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस  दौरान कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल और वरिष्ठ अधिवक्ताओं सहित तमाम गणमान्य लोग मौजूद थे। गोगोई ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट सहित सभी  अदालतों में अमर्यादित व्यवहार ने अपना सिर उठाया है। उन्होंने कहा कि भारतीय न्यायपालिका पिछले कुछ वक्त से अभूतपूर्व तरीके से अमर्यादित कृत्यों में बढ़ोतरी की गवाह बन  रही है। अशिष्ट व्यवहार के ऐसे मामलों ने शीर्ष अदालत सहित देश की सभी अदालतों में अपना सिर उठाया है। गरिमापूर्ण और सुखद विचार-विमर्श और बहस को मुखर और प्रेरित  आचरण से प्रतिस्थापित किया जा रहा है। गोगोई ने कहा कि 'यह महत्वपूर्ण है कि पक्षकार तेजी से इनकी पहचान कर उन्हें अलग-थलग करें। उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि संस्थान की व्यवस्था और गरिमा बनी रहे।'

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget