मुंबई में रविवार को भी रहा जनजीवन अस्त-व्यस्त

मुंबई
महाराष्ट्र के कई शहरों में लगातार भारी बारिश होने से बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, मुंबई और पुणे में लोगों को अगले 24 घंटों और भारी बारिश से  निजात नहीं मिलेगी। मुंबई की मीठी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। प्रशासन ने नदी के किनारे रहने वाले करीब 400 लोगों को सुरक्षित स्थान पर शिक्ट किया। वहीं,  रविवार को पुणे के एक निजी अस्पताल में फंसे 50 मरीज और 120 कर्मियों को रेस्क्यू किया गया। सेंट्रल रेलवे ने बताया कि सायन और कुर्ला के बीच रेलवे ट्रैक डूबा है। मनपा ने  हाई टाइड का अनुमान जताते हुए लोगों को समुद्र किनारे न जाने की सलाह दी है। इस मानसून सीजन में करीब 2 महीने बाकी हैं, लेकिन सीजन के 45 दिन में 89 प्रतिशत बारिश  हो चुकी है। इस दौरान मुंबई में 2,200 मिमी से अधिक बारिश हुई।

महाराष्ट्र के 35 से ज्यादा गांवों में हजारों लोग फंसे
महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि 35 से ज्यादा गांवों में हजारों लोग फंसे हुए हैं। उन्हें एयरलिफ्ट करने के लिए वायुसेना को आग्रह किया है। सरकार ने ग्रामीणों को रेस्क्यू के लिए  एनडीआरएफ से भी छह और टीमें बढ़ाने की मांग की है। मूसलाधार बारिश को ध्यान में रखते हुए ठाणे के जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर ने आज भी स्कूल बंद रहने की जानकारी दी।  इसी के साथ नासिक, पुणे समेत कई जगहों पर आज स्कूल बंद रहेंगे।

ठाणे और पालघर में रेड अलर्ट
पुणे प्रशासन के अधिकारियों ने बताया है कि खड़गवासला बांध से मुथा नदी में  45 हजार से ज्यादा क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। वहीं, ठाणे पुलिस ने बताया कि कल्याण, डोंबिवली, भिवंडी, उल्हासनगर, ठाणे से बाढ़ में फंसे लोगों को बाहर निकाला गया। ठाणे  और पालघर में बारिश को लेकर रेड अलर्ट है। स्काईमेट के महेश पलावत ने कहा कि अगले 2 दिन  तक  बारिश से निजात नहीं मिलेगी।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget