अखिलेश यादव की 'अगस्त क्रांति' से पहले चाचा शिवपाल भरेंगे हुंकार

लखनऊ
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से पहले प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव अपने 12 सूत्रीय मांगों को लेकर सड़कों पर उतरेंगे। लोकसभा  चुनाव परिणाम आने के बाद से ही निष्क्रिय चल रहे अखिलेश यादव ने 9 अगस्त को राज्यव्यापी धरना प्रदर्शन का ऐलान किया था, लेकिन इससे पहले चाचा शिवपाल यादव 8   अगस्त लखनऊ में विशाल धरना प्रदर्शन का ऐलान किया है। शिवपाल यादव लखनऊ के हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर अपनी 12 सूत्रीय मांगों को लेकर विशाल धरना प्रदर्शन   का ऐलान किया है।
शिवपाल यादव 8 अगस्त को पार्टी कार्यालय से गांधी प्रतिमा हजरतगंज तक मार्च निकालेंगे और धरना देंगे। उनका यह आंदोलन प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था के विरोध में हैं।  शिवपाल यादव ने प्रेस कांफ्रेंस कर यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त है। अधिकारियों एवं गुंडों का राज कायम है। लखनऊ में सभी प्रशासनिक  अमला मौजूद होते हुए भी दिन-दहाड़े लूट, हत्या एवं डकैती आम बात हो चुकी है। विकास कार्य लगभग पूरे प्रदेश में बंद है। उन्होंने कहा कि एक देश में एक कानून के तहत मंहगे  हो चुके पेट्रोल, डीजल को भी तत्काल जीएसटी के दायरे में लाया जाए। शिवपाल ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी, तो जनता के लिए जेल भी जाने को तैयार हैं। उधर समाजवादी पार्टी  (सपा) राज्य की कानून-व्यवस्था और अन्य मुद्दों को लेकर आगामी नौ अगस्त को राज्यव्यापी धरना प्रदर्शन करेगी।
सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने रविवार को बताया कि पार्टी अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर आगामी नौ अगस्त को 'क्रांति दिवस' पर प्रदेश के सभी  जिला मुख्यालयों में 25 सूत्रीय मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन आयोजित किया जाएगा। चौधरी ने बताया कि धरना कार्यक्रम में पार्टी के सांसदों, विधायकों और कार्यकर्ताओं सहित  समाजवादी पार्टी के सभी युवा संगठन, महिला सभा तथा अन्य प्रकोष्ठों के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता भी हिस्सा लेंगे और राज्यपाल को स बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से सौंपेंगे।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget