कांग्रेस हो गई है अप्रासंगिक : रमापति राम त्रिपाठी

मुंबई
'जनता का भरोसा खरा साबित हुआ। भारी बहुमत के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथ में देश की कमान देकर जनता ने बदलाव की आशा जताई थी और साहसिक कदम उठाकर  मोदी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद ३७० हटाकर जता दिया कि संकल्पशक्ति हो तो हर काम हो सकता है। अनुच्छेद ३७० हटाए जाने के बाद धरती का स्वर्ग कहा जाने वाला जम्मू-  कश्मीर सही मायने में भारत का अभिन्न अंग बना है।
जन-जन का आत्मसम्मान बढ़ा तो भारी जन समुदाय कह उठा- 'मोदी हैं तो मुमकिन है और शाह हैं तो संभव है,' उक्तबातें दैनिक हमारा महानगर के कार्यालय में सदिच्छा भेंट पर  आए उत्तर प्रदेश के पूर्व भाजपा अध्यक्ष एवं सांसद रमापति राम त्रिपाठी ने विशेष बातचीत के दौरान कहीं। उत्तर प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष एवं देवरिया संसदीय सीट से ढाई   लाख से अधिक वोटों से विजयी हुए रमापति राम त्रिपाठी ने कहा कि देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद ३७० लगाए जाने के रूप में जो   बड़ी भूल हुई थी, उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने सुधार दिया है। पीएम मोदी ने जनसंघ के संस्थापक श्यामाप्रसाद मुखर्जी, दीनदयाल उपाध्याय, भाजपा के   युगपुरुष अटलबिहारी वाजपेयी के सपनों को साकार किया है। सही अर्थों में कहा जाए तो भारत के संविधान की मंशा यथार्थ हो गई है। क्योंकि श्यामाप्रसाद मुखर्जी और डॉ. भीमराव आंबेडकर जैसे दूरदर्शी और ज्ञानीजन नहीं चाहते थे कि देश में दो निशान, दो प्रधान और दो विधान की प्रथा लागू की जाए। आजादी के बाद खुद महात्मा गांधी ने अखिल भारतीय कांग्रेस को भंग करने को कहा था लेकिन कांग्रेस ने महात्मा गांधी की अवहेलना करते हुए कांग्रेस को भंग नहीं किया। यहीं से कांग्रेस ने वोट की राजनीति शुरू कर फूट डालो और  राज करो, की शैली अपनाई। कांग्रेस की मंशा देशहित नहीं वोटहित हो गया था। यही कारण था कि कांग्रेस लगातार टूटती गई।
उत्तर प्रदेश में भाजपा को मजबूती प्रदान करने में अहम भूमिका निभाने वाले रमापति राम त्रिपाठी ने नरेंद्र मोदी को केवल पार्टी का नेता नहीं, बल्कि वैश्विक नेता बताया। उन्होंने  कहा कि मोदी की बात पूरी दुनिया सुन रही है, यह गर्व की बात है। धारा ३७० के बारे में बात करते हुए सांसद रमापति राम त्रिपाठी ने कहा कि यह धारा अलगाववाद और आतंकवाद  का कारण बनी। जनसंघ से लेकर भाजपा तक जितने भी चुनाव हुए हैं उस मुद्दे को घोषणापत्र में शामिल किया गया। अब ७० सालों बाद नेहरू की गलती को सुधारने में मोदी-शाह को  सफलता मिली है। वर्षों तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े रहे रमापति राम त्रिपाठी ने कहा कि अब राजनीति का एजेंडा बदल गया है। पहले नारों और जुमलों पर लोकसभा के  चुनाव होते थे, लेकिन नरेंद्र मोदी ने २०१४ से विकास और राष्ट्रवाद के एजेंडे पर चुनाव का रुख मोड़ दिया है। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के बारे में सांसद त्रिपाठी ने कहा कि मामला न्यायालय में विचाराधीन है। उम्मीद ही नहीं, पूर्ण विश्वास है कि फैसला सकारात्मक आएगा और  अयोध्या में शीघ्र ही भव्य और दिव्य राम मंदिर का निर्माण होगा।
लगातार टूट-टूट कर बिखरती जा रही कांग्रेस के सवाल पर त्रिपाठी ने कहा कि वर्तमान राजनैतिक परिदृश्य से कांग्रेस अप्रासंगिक हो गई है। कांग्रेस दोराहे पर नहीं चौराहे पर खड़ी है,  जहां से उसे समझ में ही नहीं आ रहा कि उसे किस दिशा में जाना है। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार की सराहना करते हुए रमापति राम त्रिपाठी ने कहा कि यह प्रदेश  श्रेष्ठ प्रदेश बनने की दिशा में तेजी से जा रहा है। यूपी सचमुच में एक चुनौती था, लेकिन यहां की समझदार जनता ने मोदी-योगी के नेतृत्व में भाजपा पर विश्वास किया और विकास पर मुहर लगाई। प्रदेश की कानून व्यवस्था को लगभग पटरी पर लाया जा चुका है। गुंडे या तो जेल में हैं या फिर प्रदेश छोड़कर चले गए हैं। जल्द ही प्रदेश गुंडामुक्तहो जाएगा। गेंहू और दूध उत्पादन में राज्य नंबर वन हो गया है। सड़कों का जाल बिछ गया है। बिजली की सप्लाई २४ घंटे करने के लिए काम चल रहा है। सबसे बड़ा काम राज्य में  रोजगार का सृजन करने के लिए योगी सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। नतीजे आने लगे हैं। जल्द ही प्रदेश का चेहरा बदला-बदला नजर आएगा। इस अवसर पर हमारा महानगर  कार्यालय में मुंबई भाजपा उपाध्यक्ष अमरजीत सिंह और हमारा महानगर के निदेशक संजू सिंह ने उनका स्वागत किया। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार द्विजेंद्र तिवारी, आचार्य पवन  त्रिपाठी, श्रीप्रकाश शुक्ला, हमारा महानगर के कार्यकारी संपादक राघवेंद्रनाथ द्विवेदी और मुख्य उपसंपादक उदयराज यादव उपस्थित थे।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget