अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरा

श्रीनगर
पाकिस्तान के आतंकी अमरनाथ यात्रा पर हमले की साजिश रच रहे थे, लेकिन भारतीय सेना की चौकसी के कारण इसे अंजाम नहीं दे पाए। सुरक्षाबलों को यात्रा मार्ग के पास एक  आतंकी ठिकाने से अमेरिकन स्नाइपर राइफल और पाकिस्तान में बनी बारूदी सुरंग मिली। इसके बाद जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों के लिए अडवाइजरी   जारी की है। सरकार ने तीर्थयात्रियों और पर्यटकों से कश्मीर घाटी में अपने ठहराव और यात्रा की अवधि कम करने को कहा है। इतना ही नहीं, अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों से  जितना जल्दी हो सके, उतना जल्दी कश्मीर घाटी से लौटने के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा गया है। जम्मू-कश्मीर के प्रिंसिपल सेके्रटरी (होम) की तरफ से जारी सिक्योरिटी   अडवाइजरी में श्रद्धालुओं और पर्यटकों से 'यात्रा की अवधि कम करने' और 'जल्द से जल्द लौटने' को कहा गया है। इससे पहले खराब मौसम की वजह से यात्रा 4 अगस्त तक रोक दी   गई थी। शुक्रवार को भारतीय सेना, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने साझा प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि पिछले दिनों पकड़े गए कुछ आतंकियों और उनके ठिकानों से मिले  गोला-बारूद से साफ हो चुका है कि पाकिस्तान कश्मीर में आतंकवाद फैलाने की कोशिश कर रहा है। हालांकि, सीमा पर स्थिति शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है।

पाकिस्तान रच रहा यात्रा में गड़बड़ी की साजिश
सेना की तरफ से बताया गया कि पाकिस्तानी सेना लगातार कश्मीर में शांति भंग करने का प्रयास करती है। कई बार सर्च ऑपरेशन के दौरान बारूदी सुरंगों का भी पता चला, लेकिन  उनके सभी प्रयास विफल कर दिए गए। सेना के अधिकारी ने कहा कि कश्मीर घाटी में स्थिति सुधरी है और आतंकियों की संक्या में भी कमी आई है। लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने कहा कि सुरक्षा बलों ने अमरनाथ यात्रा के रुट पर आतंकियों के एक ठिकाने से सर्च ऑपरेशन के दौरान एक अमेरिकन स्नाइपर राइफल एम-24 बरामद की है। इसके  अलावा पाकिस्तान में निर्मित बारूदी सुरंग और अन्य विस्फोटक बरामद हुए हैं। बरामद हुई माइन का इस्तेमाल पाकिस्तानी सेना करती है।

पकड़े गए आतंकी आईईडी के जानकार थे
सेना लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से हो रही घुसपैठ की कोशिशों को हमने विफल किया है। आतंकियों से पूछताछ में पाक सेना के द्वारा  बिछाई लैंडमाइन के बारे में जानकारी मिली है। ज्यादातर पकड़े गए आतंकी आईईडी तैयार करने के जानकार थे। पाक सेना के कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने को बर्दाश्त नहीं  किया जाएगा।

83% आतंकी पहले पत्थरबाजी में शामिल रहे
सेना ले. जनरल ढिल्लन ने बताया कि कश्मीर में आतंकवाद को लेकर हुए विश्लेषण में सामने आया है कि हथियार उठाने वाले 83% लोग ऐसे हैं, जो पत्थरबाजी की घटनाओं में   शामिल रह चुके हैं। इसलिए सभी माताओं से अपील है कि आज आपका बच्चा 500 रुपए के लिए सुरक्षाबलों पर पत्थर फेंकेगा, लेकिन कल वो आतंकी बन जाएगा।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget