घाटी मे ’गद्दारों’ का प्रोपोगेंडा

श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर में लगातार सुरक्षा बढ़ाए जाने और श्रद्धालुओं को वापस बुलाए जाने के चलते तमाम तरह की चर्चाएं हो रही हैं। इन चर्चाओं को अफवाह मात्र बताते हुए गवर्नर सत्यपाल  मलिक ने कहा है कि उन्होंने दिल्ली में सबसे बात की है। उन्होंने यह भी कहा कि ना तो प्रधानमंत्री मोदी ने और ना ही गृहमंत्री अमित शाह ने उनसे ऐसी कोई चर्चा की है। बता दें  कि कयास लगाए जा रहे हैं कि अनुच्छेद 35ए और अनुच्छेद 370 को खत्म किया जा सकता है। इन अफवाहों के बारे में सत्यपाल मलिक ने कहा, ''संसद का सत्र अभी चल रहा है,  अभी तीन-चार दिन और चलेगा। जो कुछ भी होगा, वह चुपके से नहीं होगा। यह सदन में रखा जाएगा और इसपर चर्चा होगी। अफवाह फैलाने का कोई कारण नहीं है। सोमवार,  मंगलवार तक इंतजार कीजिए फिर कुछ कहिए। मैंने दिल्ली में सबसे बात की है और किसी ने मुझे कोई संकेत नहीं दिया है कि कुछ होने वाला है। कुछ लोग कह रहे हैं कि तीन  राज्य बना दिए जाएंगे, कुछ लोग कह रहे हैं कि अनुच्छेद 35ए और 370 को खत्म कर दिया जाएगा, प्रधानमंत्री और गृहमंत्री ने भी मुझसे ऐसी कोई चर्चा नहीं की है।''
सत्यपाल मलिक ने यह भी कहा, ''मैं कल के बारे में नहीं जानता हूं। यह मेरे हाथ में नहीं है, लेकिन आज चिंता करने की कोई बात नहीं है।'' उन्होंने यह भी भरोसा दिलाया कि  अतिरिक्त अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती विशुद्ध रूप से सुरक्षा कारणों से उठाया गया कदम है। उन्होंने विभिन्न पार्टियों के नेताओं से भी अपील की है कि वे अपने समर्थकों से शांत  रहने और अफवाहों पर ध्यान न देने को कहें।
इससे पहले उमर अब्दुल्ला और जम्मू- कश्मीर के कई अन्य नेताओं से मुलाकात के बारे में कहा कि वे संतुष्ट होकर गए हैं। उन्हें मुझसे जो उम्मीद थी, मैंने किया। जहां तक मुझे  पता है, ऐसा कोई संकेत नहीं है कि कुछ होने वाला है। गौरतलब है कि राजभवन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि राज्यपाल ने पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की अगुआई  में प्रतिनिधिमंडल को बताया कि सुरक्षा स्थिति इस तरह से पैदा हुई है, जिस पर तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता थी।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget