Latest Post

Pulela Gopichand
कोलकाता
भारतीय बैडमिंटन टीम के कोच पुलेला गोपीचंद, पीवी सिंधू की खराब फॉर्म से चिंतित नहीं हैं, लेकिन उन्होंने माना है कि यह भारतीय बैडमिंटन के लिए मुश्किल समय है, क्योंकि  यह ओलंपिक का साल है और साइना नेहवाल तथा किदांबी श्रीकांत इस समय संघर्ष कर रहे हैं। गोपीचंद टाटा स्टील साहित्य सम्मेलन में ड्रीक्स ऑफ बिलियन इंडिया एंड द ओलिंपक गेक्स किताब के लांच पर आए थे। कार्यक्रम से इतर गोपीचंद ने कहा कि सिंधू थोड़ा बहुत संघर्ष कर रही हैं, लेकिन वह ऐसी खिलाड़ी हैं जिन्होंने लगातार बड़े टूर्नामेंट्स में  अच्छा किया है। यह ओलंपिक का साल है और मुझे भरोसा है कि हमें पता है कि हमें कहां काम करना है तो हम इस बात का समाधान निकाल लेंगे। सिंधू ने बीते साल विश्व  चैंपियनशिप का खिताब जीता था। वह इस समय क्वॉलीफिकेशन रैंकिंग में छठे स्थान पर हैं, जबकि साइना 22वें। साइना को क्वॉलीफिकेशन पीरियड खत्म होने तक 16वें स्थान पर  आना होगा। यह पीरियड अप्रैल में खत्म होगा और तब तोख्यो के लिए भारतीय दल का चुनाव होगा। श्रीकांत की रैंकिंग में भी यहां 26वीं है। उन्हें भी 16 स्थान के अंदर आना होगा।  गोपीचंद ने कहा कि यह मुश्किल समय है। क्वॉलीफिकेशन खत्म होने में सात-आठ टूर्नामेंट बचे हैं और उन्हें वाकई अच्छा खेलना होगा। मुझे लगता है कि श्रीकांत के सामने मुश्किल टास्क है। उन्होंने कहा कि पिछले दो टूर्नामेंट अच्छे नहीं गए हैं, लेकिन फिर भी मुझे उम्मीद है कि यह लोग वापसी करेंगे और कुछ अच्छे प्रदर्शन करेंगे। कोच ने कहा कि साइना के  एक-दो अच्छे प्रदर्शन उन्हें ओलंपिक कोटा दिला देगा।

Pant Rahul
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष सौरव गांगुली ने सीमित ओवरों में विकेटकीपर बल्लेबाज लोकेश राहुल के प्रदर्शन की सराहना की है और उम्मीद जताई है कि वे  टेस्ट में भी अपनी इस फॉर्म को जारी रखेंगे। टीम प्रबंधन ने न्यूजीलैंड दौरे पर जारी पांच मैचों की टी-20 सीरीज के पहले मैच में विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को बाहर बिठाकर  उनकी जगह राहुल को अंतिम एकादश में शामिल किया था और उनसे विकेटकीपिंग करवाई थी। राहुल ने पहले टी-20 मैच में बल्ले से भी 56 रनों की पारी खेली थी। अंतिम एकादश  में खेलाने पर गांगुली ने कहा कि विराट कोहली यह फैसला लेते हैं। टीम मैनेजमेंट और कप्तान राहुल की भूमिका पर फैसला लेते हैं। गांगुली ने आगे कहा कि उन्होंने (राहुल) वनडे  और टी-20 में शानदार प्रदर्शन किया है। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में भी अच्छा किया था, लेकिन इसके बाद उनका प्रदर्शन नीचे गिरता गया। सीमित ओवरों के प्रारूप में वह काफी अच्छा  कर रहे हैं और उम्मीद है वे अपने इस अच्छे खेल को आगे भी जारी रखेंगे। जैसा कि मैंने पहले कहा कि उनको लेकर सभी फैसले टीम मैनेजमेंट का है। यह पूछे जाने पर कि इस  साल होने वाले टी-20 विश्व कप के लिए विकेटकीपिंग की रेस में कौन कौन है, इस पर बीसीसीआई अध्यक्ष ने कहा कि चयनकर्ता, विराट और रवि शास्त्री इस पर निर्णय लेंगे। वे जो भी सोचेंगे, वैसा ही होगा।

उल्हासनगर
उल्हासनगर मनपा स्थाई समिति के तीन सदस्यों की सदस्यता रद्द कर दी गई है। उल्हासनगर मनपा महापौर चुनाव के दौरान साई पार्टी का भाजपा में विलय हो गया था। वहीं मनपा स्थाई  समिति में साईं पार्टी के तीन सदस्य थे पूर्व मनपा महापौर पंचम ओमी कालानी ने कोकण विभाग में साईं पार्टी के भाजपा में विलय होने के बाद तीनों सदस्यों के स्थाई समिति सदस्य पद रद्द  करने की मांग के लिए शिकायत की थी। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कोकण विभाग आयुक्त ने साई पार्टी के तीन सदस्यों को स्थाई समिति की सदस्यता रद्द करने का आदेश मनपा  आयुक्त को दिया। कोकण विभाग के आदेश के बाद मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने स्थाई समिति से साई पार्टी के तीन सदस्यों की सदस्यता को रद्द कर दिया है। इसके बाद मनपा स्थाई  समिति में भाजपा बहुमत के आंकड़े से बाहर हो गई है। अब मनपा संबंधित किसी भी मामले में भाजपा के लिए निर्णय लेना मुश्किलें पैदा करेगी।
 मनपा में भाजपा के साथ महापौर चुनाव में  विलय के बाद साई पार्टी के तीन सदस्यों की स्थाई समिति से सदस्यता रद्द होने के कारण उल्हासनगर की राजनीति में हड़कंप मच गया है। चुनाव पूर्व सत्ता में शामिल रही टीम ओमी  कालानी  के मनपा स्थाई समिति के सदस्य रहे भाजपा के नगरसेवक राजेश बदरिया सभापति पद पर आसीन हैं, जो महापौर चुनाव के दौरान टीम ओमी कालानी से बगावत कर भाजपा खेमे में शामिल हो  गए हैं और मनपा स्थाई समिति में साई पार्टी और भाजपा के कुल मिलाकर नौ सदस्यों का बहुमत होने से वे कोई भी निर्णय आसानी से ले लेते थे। बता दें कि मनपा महापौर चुनाव में टीम ओमी कालानी के नौ नगर सेविकाओं ने पूर्व महापौर पंचम कालानी के नेतृत्व में शिवसेना उम्मीदवार लीलाबाई आसान को मतदान किया था और मनपा की सत्ता से भाजपा को बाहर कर दिया  है। 
वहीं महापौर चुनाव के दौरान साई पार्टी के प्रमुख जीवन इदनानी ने अपनी पार्टी को भाजपा में विलय कर दिया था और भाजपा की तरफ से मनपा महापौर पद के उम्मीदवार थे। बता दें कि  मनपा में सत्ता परिवर्तन के बाद स्थाई समिति सभापति पर आसीन भाजपा नगर सेवक राजेश बदरिया का सभापति कार्यकाल दो महीने का शेष बचा हुआ है। मिली जानकारी के अनुसार स्थाई समिति में16 सदस्य हैं, जिसमें छह सदस्य भाजपा के तीन सदस्य साई पार्टी के थे, जबकी शिवसेना सहित अन्य के सात सदस्य थे। स्थाई समिति में साई पार्टी और भाजपा के 9 सदस्य होने से  उनकी संख्या अधिक थी, जिसके चलते मनपा महापौर लीलाबाई आसान को मनपा के आॢथक मामले में निर्णय लेने में कठिनाइयां उत्पन्न हो रही थी। महापौर चुनाव में भाजपा के खिलाफ  मतदान करने के बाद टीम ओमी कालानी की मनपा महापौर रही पंचम ओमी कालानी ने स्थाई समिति में साई पार्टी के तीन सदस्यों के खिलाफ कोकण विभाग में शिकायत की थी। कोकण  विभाग ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और साई पार्टी जो कि भाजपा में विलय हो चुकी है। उनके तीन सदस्यों की स्थाई समिति से सदस्यता रद्द करने का आदेश दिया है। इसके बाद  मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने साई पार्टी के तीन सदस्य टोनी शेरवानी, दीप्ति दुधानी, ज्योति भाटीजा की सदस्यता रद्द कर दी है। गौरतलब हो कि उल्हासनगर मनपा के वर्ष 2017 के चुनाव  में भाजपा ने पूर्व विधायक पप्पू कलानी के बेटे ओमी कालानी की गठित टीम ओमी कालानी से गठबंधन कर ये तीनों मनपा का चुनाव लड़ी थीं।

नवी मुंबई
ठाणे के शिवसेना सांसद राजन विचारे ने ऐरोली काटई एलीवेटेड कोरिडोर के विकास कार्यों का जायजा लिया। एमएमआरडीए अधिकारियों के साथ दौरे पर निकले सांसद ने विकास कार्यों में गति  लाने का निर्देश दिया। उन्होंने विश्वास जताया कि ऐरोली-काटई एलिवेटेड कॉरिडोर के निर्माण में गति आएगी। बता दें कि 21 मई 2016 को इस एलीवेटेड मार्ग का शिलान्यास हुआ था। 2019 में इसके पूरा होने की तिथि तय की गयी थी लेकिन आज तक यह अधर में लटका हुआ है। सांसद ने विश्वास जताया कि अब इसके निर्माण में गति आएगी। इस अवसर पर शिवसेना के जिलाप्रमुख द्वारकानाथ भोईर, वि_ल मोरे, नगरसेवक एमके मढवी, के साथ ही एमएमआरडीए के अधीक्षण अभियंता प्रकाश भंगारे, मिलिंद जैतपाल, कौशल मारू सहित तमाम अधिकारी और  पदाधिकारी मौजूद थे।
ऐरोली से काटई नाका तक बनने वाला यह प्रोजेक्ट कुल 12।3 किलोमीटर लंबा है। पहले चरण में ठाणे बेलापुर हाइवे क्रमांक 4 तक इसकी लंबाई 2.71 किलोमीटर की है, जिसमें 2 टनल और 3  तीन लेन की मार्गिकाएं हैं। यहां एक अतिरिक्त लेन तैयार की गई है। दूसरे चरण में ऐरोली पुल से ठाणे बेलापुर हाइवे तक 2।30 किमी एलीवेटेड रोड बनेगा जिसमें तीन 3 लेन होंगी। इस पर कुल 275 करोड़ की लागत आने वाली है। दोनों चरणों का काम सितंबर 2019 में पूरा होना था, लेकिन अभी तक सिर्फ 30 फीसदी निर्माण कार्य ही पूरा हो सका है। सांसद ने सिडको अधिकारियों  के संग नेरुल से भाऊचा धक्का तक संचालित होने वाले वाटर ट्रांसपोर्ट के विकास कार्यों का भी जायजा लिया। बेलापुर मनपा मुख्यालय के पास महाराष्ट्र मेरीटाईम बोर्ड और सिडको द्वारा तैयार  किया जा रहा पॅसेंजर वॉटर टॢमनल प्रकल्प निर्माण का हाल देखा और विकास कार्यों में गति लाने का निर्देश दिया।

कल्याण
कल्याण लोकसभा सीट से सांसद शिवसेना नेता डॉ.श्रीकांत शिंदे ने कल्याण लोकसभा में कानून व्यवस्था की लचर स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से भेंट कर इस पर संज्ञान लेने का  आह्वाहन किया। गौरतलब हो कि सांसद के क्षेत्र में गत दो दिनों के भीतर डोंबिवली, कल्याण और उल्हासनगर में नृशंस हत्याएं हुई हैं, जिन्हें देखकर ऐसा लगता है कि अपराधियों में कानून का  पालन न करने पर होने वाले परिणाम का कोई खौफ नही रह गया है। आए दिन चोरी, विनयभंग, अपहरण आदि वारदातों से नागरिकों में असुरक्षा की भावना है। वहीं क्षेत्र में नशाखोरी और नशे  का सामान बेचने वालों की भी बाढ़ आई हुई है।
 अभी दो दिन पूर्व ही गांजे की बड़ी खेप पकड़ी गई है। इससे पहले कलवा में भी मेडिकल स्टोर में एक युवक की हत्या कर दी गई थी। पुलिस चौकियों में पुलिस की अनुपस्थिति भी घटनाओं को  बढ़ाने में सहायक हो रही है। इन सब बातों से सांसद श्रीकांत शिंदे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को मिलकर और गृह मंत्री अनिल देशमुख को पत्र द्वारा अवगत कराया तथा सुचारु कानून व्यवस्था  बनाने के लिए सहयोग करने का आह्वान किया है।

नासिक
आओ, हम अपना जीवन कृतज्ञता के भाव से सजाएं। निरंकार प्रभु ने हमें जो यह जीवन बक्शा है वह एक तौफीक ही है। परमात्मा हमें वह प्रदान करता है, जो हमारे लिए सबसे उत्तम है। हमें  उसकी रजा में रहना आए और उसका शुक्रिया अदा करना आजाएं । यह प्रतिपादन सद्गुरु माता सुदीक्षा महाराज ने महाराष्ट्र के 53वें वार्षिक निरंकारी संत समागम के पहले दिन उपस्थित लाखों  के जन समूह को संबोधित करते हुए किया। नाशिक के बोरगड इलाके में आयोजित इस संत समागम में मानवता का महासागर उमड़ा है, जिसमें महाराष्ट्र के कोने-कोने से तथा देश एवं दूर देशों  से भारी संख्या में श्रद्धालु भक्त पधारे हैं। 
सद्गुरु माता ने कहा कि कृतज्ञता के भाव धारण करने से हमारे अंदर शांति स्थापित हो जाती है। हम अपने जीवन में सहनशीलता, क्षमाशिलता, सद्व्यवहार, सब्र और प्रेम जैसे दिव्य गुणों को  अपना कर जीवन सहज-सुंदर बना सकते हैं। सद्गुरु माता ने आगे कहा कि परमात्मा आदि अनादि है। इसका कभी प्रारंभ नहीं हुआ और अंत भी नही होगा। यह पानी से भीगता नहीं, न ही  इसको शस्त्र से काटा जा सकता है। यह हमारे अतिनिकट है। परमात्मा स्थिर है और जब हम इस स्थिर के साथ अपने आप को जोड़ लेंगे तो हमारे जीवन में स्थिरता आ जाएगी और सुख-दुख से  उपर उठ कर आनंद की अवस्था में प्रतिष्ठित हो जाएंगे। पुरातन गुरु-पीर पैगंबरों एवं पवित्र ग्रंथों की बाणी के अनुसार संत निरंकारी मिशन भी पिछले 90 सालों से यही सत्य का संदेश दे रहा है।
सद्गुरु माता ने आगे कहा कि प्रभु-परमात्मा की प्राप्ती करना हमारे जीवन का मूल उद्देश्य है। इस मौके को हम न गंवाएं। अगर हम ऐसा नहीं करते तो हमारा जीवन वृथा चला जाएगा। हमें यह  अमूल्य जीवन मिला है, इसे दुनिया की चकाचौंध मेंन उलझायें। हम इस बात पर अपना ध्यान केंद्रित करें कि जहां हम स्वयं अपने जीवन को संवारें वहीं संसार के लिए भी एक अच्छा योगदान  दे सकें। इस समागम में श्रद्धालु भक्त रेल्वे, बसों, कार एवं अन्य पफ्लिक ट्रांसपोर्ट के साधनों से समागम स्थल पर पधारे हैं। उनके आगमन से नासिकवासियों को कोई असुविधा न हों इसके लिए  ट्राफिक के उचित प्रबंध किए गए थे।
समागम के पहले दिन देश-विदेश से आए वक्ताओं ने मराठी, हिंदी, इंग्लिश, गुजराती, अहिरानी, कन्नड, सिंधी, बंजारा, भोजपुरी, पंजाबी, बंगाली एवं नेपाली आदि भाषाओं के माध्यम से विचार,  भजन, भक्तिगीत कविता इत्यादि माध्यम से अपने भाव व्यक्त किए।

मुंब्रा
 पाइप टूटने के के कारण गैस का रिसाव होने से कलवा के शिवाजी नगरपरिसर में खलबली मच गई। परिसर में रहने वाले लोगों को सांस लेने में तकलीफ होने लगी और खलबली मच गई।  घटना की सूचना मिलते ही मनपा आपदा व्यवस्थापन के अधिकारी तथा कर्मचारी मौके पर पहुंच गए। डेढ़ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद रिसाव को बंद कर एक बड़ी दुर्घटना होने से रोक दिया गया। उल्लेखनीय है कि कलवा के शिवाजी नगर स्थित शिवाजी चौक का कांक्रीटीकरण का काम चल रहा है। शाम के करीब साढ़े तीन बजे जेसीबी से खुदाई के दौरान अचानक महानगर गैस की  पाइप लाइन टूट गई। आसपास गैस की दुर्गंध फैलने लगी और सांस लेने में लोगों को तकलीफ हो रही थी। सूचना पाकर अग्निशमन विभाग तथा महानगर गैस के अधिकारी मौके पर पहुंचे और  रिसाव को करीब साढ़े 5 बजे बंद कर दिया गया। इस घटना की वजह से करीब ढाई हजार परिवारों को गैस की किल्लत का सामना करना पड़ा।

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget