Latest Post

पटना
त्यौहार के सीजन में आतंकी बिहार में अपनी नापाक साजिश को अंजाम दे सकते हैं। खालिस्तानी और इस्लामिक आतंकी संगठनों से जुड़े आतंकी बिहार में भी आत्मघाती हमले कर सकते हैं।  निशाने पर सार्वजनिक स्थानों के अलावा खासकर सुरक्षा बलों और उनसे जुड़े संस्थान या ऑफिस हो सकते हैं। खुफिया इनपुट मिलते ही एटीएस मुख्यालय ने राज्य के सभी जिलों के साथ-साथ  रेल पुलिस और सभी सुरक्षा-खुफिया तंत्र को अलर्ट कर दिया है।
 बिहार के एक दर्जन से अधिक जिलों जैसे पटना, नालंदा, जहानाबाद, गया, रोहतास, कैमूर, बक्सर, आरा, औरंगाबाद, नवादा और मुजफ्फरपुर आदि के प्रशासनिक अमले को सतर्क किया गया  है। अधिकारियों को हर स्तर पर अतिरिक्त सतर्कता बरतने के दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। सुरक्षा एजेंसियों को मिले इनपुट के अनुसार, खालिस्तानी आतंकी संगठनों द्वारा आत्मघाती दस्ते  को तैयार किया जा रहा है।इन संगठनों ने पुलिस या अन्य सुरक्षा बल से जुड़े ऐसे ऑफिस, कैंप या प्रतिष्ठान, ट्रेनिंग सेंटर और भर्ती केंद्र पर हमला करने की योजना भी बनाई है। इन जगहों पर  आतंकियों द्वारा आत्मघाती रूप में सुरक्षा बलों को निशाना बनाया जा सकता है साथ ही पुलिस प्रशासनिक व राजस्व पदाधिकारियों और कर्मचारियों के आवास पर हमला कर अपहरण या अन्य  हिंसक घटनाओं को अंजाम दिया जा सकता है। एटीएस से मिली सूचना के बाद रेल पुलिस मुख्यालय भी हरकत में आ गया है। पटना के रेल एसपी सुजीत कुमार ने सभी रेल डीएसपी से लेकर  थानेदार तक को सतर्क करते हुए सुरक्षा व्यवस्था को लेकर निर्देश दिए हैं। उग्रवादी गतिविधियों के लिहाज से दो रेल खंडों पटना-गया और कोडरमा-गया-मुगलसराय कोरेल पुलिस ने सर्वाधिक  संवेदनशील माना है। इनमें पड़ने वाले स्टेशन, हॉल्ट, रेलवे ट्रैक, एस्कॉर्ट दस्ता और रेल पुलिस थाना पर भी खतरे से इंकार नहीं किया जा सकता है। पटना और गया जंक्शन पर तैनात बम  निरोधक दस्ता के प्रभारियों को स्टेशन परिसर में पार्किंग एरिया, रेलवे यार्ड, अहम ट्रेन, सुनसान स्थलों सहित तमाम जगहों पर चेकिंग सुनिश्चित करने का आदेश दिया गया है। रेल डीएसपी,  इंस्पेक्टर और थानेदार को खुद अपनी मौजूदगी में मेटल डिटेक्टर सहित दूसरे सुरक्षा उपकरणों से जांच करने और सीसीटीवी कैमरे पर पैनी नजर रखने की खास तौर पर हिदायत दी गई है। इसके  मद्देनजर सभी सार्वजनिक स्थानों और रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था देखने को मिल रही है। रेलवे में प्लेटफॉर्म के साथ ही ट्रेनों में भी संघन जांच अभियान चलाया जा रहा है। 

पटना
 बिहार पुलिस को सरकार की ओर से आदेश मिला तो शराबियों की धर-पकड़ शुरू  हो गई। इसमें पीने वाले भी थे और पिलाने वाले भी शामिल थे। तीन साल पहले 2016 में जब राज्य में  शराबबंदी कानून लागू हुआ था उसके बाद से यहां डेढ़ लाख से ज्यादा शराबी पकड़े गए हैं। वहीं लाखों लीटर शराब भी जŽत की जा चुकी है। बिहार में शराबबंदी के तहत कार्रवाई हुई तो इससे जुड़े  केस अदालत में भी पहुंचे। पुलिस की कार्रवाई के चलते कोर्ट में शराब से जुड़े मामलों की बाढ़ सी आ गई है। हाल ही में शराबबंदी से जुड़े कुछ आंकड़े जारी किए गए हैं। आंकड़ों की मानें तो  बिहार में शराबियों और शराब माफिया के खिलाफ कार्रवाई करते हुए अब तक 52 लाख लीटर शराब जŽत की जा चुकी है। इसके साथ ही शराबबंदी कानून का उल्लघंन करने पर 1.67 लाख  व्यक्तियों को बिहार पुलिस पकड़ चुकी है। जारी किए गए आंकड़ों के मुताबनिक शराबबंदी कानून सबसे ज्यादा राजधानी पटना में तोड़ा गया। यहां सबसे ज्यादा 28,593 मामले दर्ज किए गए।  वहीं गया में 11,221, मोतिहारी में 9,979 और कटिहार में 8,867 शराबबंदी के केस दर्ज हुए हैं। जिस रफ्तार से केस दर्ज हुए उस रफ्तार से न्यायालय में मामलों का निबटारा नहीं हो रहा है।  कानून के जानकार जहां इसकी वजह कोर्ट की कम संख्या होना बता रहे हैं, वहीं बिहार में विपक्ष अब इसे मुद्दा बनाने में लगा है। इस बारे में पटना हाईकोर्ट के वकील शांतनु कुमार की मानें तो  समय की जरुरत है कि इस (शराबबंदी के केस) पर जल्द से जल्द नियंत्रण पाया जाए, नहीं तो फिर आगे चलकर हालात बेकाबू होते जाएंगे।

पटना
 खबर राजधानी पटना से है जहां जेडी वीमेंस कॉलेज की छात्राओं ने बेली रोड स्थित कॉलेज कैंपस के सामने जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान पटना के मुख्य मार्ग पर काफी देर तक यातायात  भावित रहा। दरअसल छात्राएं कॉलेज में लड़कों की इंट्री नहीं चाहती हैं, जबकि नए पीजी विभाग में छात्रों के एजुकेशन की व्यवस्था की जा रही है। छात्राओं ने इसी बात को लेकर कॉलेज में  प्रदर्शन किया और बेली रोड को भी जाम किया। उनका कहना है कि जब छात्र एवं छात्राओं की पढ़ाई की व्यवस्था को अलग कर इसे महिला कॉलेज बनाया गया है, तो फिर यहां नया विभाग  बनाने की जरूरत क्या है। छात्राओं के समर्थन में विभिन्न छात्र संगठन भी इस विरोध प्रदर्शन में शामिल रहे। इस दौरान बेली रोड पर जाम लगने से गाड़ियों की लंबी लाइन लग गई। कॉलेज की  छात्राएं बाद में समझाने पर रोड जाम से हट गई, लेकिन कॉलेज मुख्य द्वार पर धरने पर बैठ गई हैं। इस मामले में जब हमने कॉलेज की प्रिंसिपल से बात करने की कोशिश की, तो उन्होंने  कहा कि पाटलिपुत्रा यूनिवर्सिटी के पास अभी अपनी बिल्डिंग नहीं है इसलिए अभी उनके छात्रों के लिए यहां पढ़ने की व्यवस्था की जा रही है। उनका बिल्डिंग बनने के बाद उन्हें वहां भेज दिया  जाएगा। कॉलेज प्रबंधन का दावा है कि लड़कियों की सुरक्षा से कोई खिलवाड़ नहीं होगा। लड़कों को दो फ्लोर दिया जा रहा है और उनकी इंट्री अलग ही रहेगी।

भागलपुर
नवगछिया के खरीक के जिला पार्षद गौरव राय के भाई सोनू राय की हत्या में आरोपित तुलसीपुर निवासी कुख्यात राकेश राय ने खरीक के थानेदार हरिशंकर कश्यप को उठा लेने की धमकी दी  है। थानाध्यक्ष ने कहा कि राकेश राय के नाम पर मोबाइल से मुझे उठा लेने की धमकी मिली है। पर, नवगछिया पुलिस डरने वाली नहीं है। हम उसका जवाब उसे जरूर देंगे।  थानाध्यक्ष ने  बताया कि रविवार की शाम मेरे मोबाइल पर 8051952125 नंबर से फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को राकेश राय बताया। फोन करते ही वह ऊंची आवाज में बात कर रहा था और उसने  मुझे धमकी दी। कहा कि तुमने सोनू मर्डर केस में मेरे निर्दोष बेटे मुरलीधर उर्फ मुरली राय को घर से उठाकर जेल भेजकर अच्छा नहीं किया। कान खोलकर सुन लो, तीस दिनों के अंदर अगर  मेरा बेटा जेल से नहीं छूटा तो तु्हें और तु्हारे बेटे को भी उठा लेंगे।
तु्हारे पूरे परिवार की हत्या कर देंगे। राकेश राय के फोन के बाद थानाध्यक्ष हरिशंकर कश्यप ने राकेश के खिलाफ अपने ही थाने में खुद को धमकी देने का मुकदमा दर्ज किया है। इसके साथ ही  पुलिस राकेश राय की तलाशी के लिए छापेमारी कर रही है। पुलिस का कहना है कि मोबाइल नंबर के आधार पर उसकी तलाश की जा रही है।

पटना
बिहार में एक लोकसभा व पांच विधानसभा सीटों पर सोमवार को उपचुनाव हुआ। मतदाताओं ने 51 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला इवीएम में बंद कर दिया। कहीं से किसी अप्रिय घटना की  सूचना नहीं मिली। समस्तीपुर लोकसभा सीट पर 45 फीसद वोट पड़े। पांच विधानसभा सीटों पर करीब 50 फीसद मतदान हुआ। मतदान के बाद अब मतगणना 24 अक्टूबर को होगी। चुनाव परिणाम भी उसी दिन आएगा। इस उपचुनाव को अगले साल होनेवाले विधानसभा चुनाव के सेमीफाइनल के रूप में देखा जा रहा है। उपचुनाव कोलेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि चुनाव  में जनता मालिक होती है।

खाई में गिरीं तीन गाड़ियां आठ लोगों की मौत


देहरादून
उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में भूस्खलन की चपेट में आकर एक कार और दो मोटरसाइकल 400 मीटर गहरी खाई में गिर गईं। शनिवार की देर शाम हुए इस हादसे में 8 लोगों की मौत  हो गई। जानकारी के मुताबिक, तीनों वाहन पहाड़ से गिरी एक बड़ी चट्टान की चपेट में आ गए थे। रुद्रप्रयाग के आपदा परिचालन केंद्र प्रभारी हरीश चन्द्र शर्मा ने बताया कि शनिवार  की शाम को रंजीत शर्मा, हासिद और रवि कुमार घायल हालत में मिले थे। अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही तीनों मौत हो गई। दुर्घटना के बाद बचाव अभियान शुरू किया गया,  लेकिन अंधेरे के कारण रात को काम रोकना पड़ा। रविवार सुबह राहत दल को खाई में पांच शव मिले। ऊंचाई से गिरने की वजह से शव क्षतिग्रस्त हो गए। इस कारण शवों की  फिलहाल शिनाक्त नहीं हो सकी।
रुद्रप्रयाग के जिला मजिस्ट्रेट मंगेश गिलडियाल ने बताया कि कार में सवार लोग लोग केदारनाथ मंदिर से लौट रहे थे। हालांकि अभी तक यह पता नहीं लग पाया था कि दुर्घटना का शिकार हुए वाहनों में कुल कितने लोग सवार थे।

वाशिंगटन
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को कहा कि कई देशों ने क्रिप्टोकरेंसी अपनाने को लेकर चेतावनी दी है। सीतारमण ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और विश्वबैंक की  वार्षिक बैठक में फेसबुक की प्रस्तावित क्रिप्टोकरेंसी लिब्रा को लेकर चली चर्चा के बीच यह टिप्पणी की। उनसे पहले रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने भी क्रिप्टोकरेंसी पर अपनी राय रखी। सीतारमण ने भारतीय संवाददाताओं के एक समूह से कहा कि हमारी ओर से रिजर्व बैंक के गवर्नर इस बारे में बोल चुके हैं। मुझे ऐसा महसूस हुआ कि कई सारे  देश क्रिप्टोकरेंसी अपनाने को लेकर सतर्क हैं। सीतारमण ने कहा कि उनमें से कुछ देशों ने कहा कि हममें से किसी को क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। कुछ देशों ने तो  यहां तक कहा कि इसे स्थिर मुद्रा भी नहीं कहा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि विभिन्न लोगों ने तीन या चार अलग-अलग नामों का सुझाव दिया, लेकिन कुल मिलाकर यही रहा कि  इसबारे में कुछ कहे जाने या किए जाने से पहले सभी देश बेहद सतर्कता बरत रहे हैं। आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टलीना जॉर्जिवा ने कहा कि डिजिटल मुद्रा के फायदे और इसके जोखिमों के बारे में चर्चा की जा रही है।

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget