Latest Post

Coconut Water

नारियल पानी पीने के दौरान बहुत स्वादिष्ट लगता है लेकिन क्या आपको नारियल पानी के फायदों के बारे में जानकारी है। नारियल पानी में शरीर के लिए लाभकारी कई तरह के विटामिन्स , मिनरल्स और इलेक्ट्रोलाइट उपस्थित हैं। इसके अतिरिक्त इसमें कैलोरी और फैट भी कम पाया जाता है। हिंदुस्तान में नारियल पानी बहुत ही लोकप्रिय है। इसका रोजाना सेवन करने से वजन कम करने में भी सहायता मिल सकती है 

  • नारियल पानी का सेवन लिवर के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। दरअसल, इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो लिवर में उपस्थित कई तरह के विषाक्त पदार्थों की एक्टिविटि को कम करते हैं। नारियल पानी लिवर को स्वस्थ रखने में सहायता करता है। आपको इसका सेवन जरूर करना चाहिए। 
  • हाई ब्लड प्रेशर में नारियल पानी का सेवन फायदेमंद माना जाता है। कुछ वर्ष पहले वेस्टइंडीज के मेडिकल जर्नल में एक अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक नारियल पानी हाई बीपी को नियंत्रित करने में सहायता करता है। 
  • नारियल पानी दिल रोग का जोखिम भी कम करता है। दरअसल, यह बेकार कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने में सहायता करता है। इसका सेवन हाइपरटेंशन और स्ट्रोक के खतरे को कम करने में सहायता करता है। 
  • नारियल पानी का सेवन वजन कम करने के लिए भी किया जाता है । दरअसल, यह कैलोरी में कम और पचाने में सरल होता है । इसमें कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो वजन और फैट की चर्बी कम करने में सहायता गार हैं। 
  • इसका प्रतिदिन सेवन आपके लिए लाभकारी होने कि सम्भावना है। प्रात: काल खाली पेट इसका सेवन सबसे अधिक लाभकारी रहता है। यह प्रात: काल की सुस्ती को दूर कर नयी ऊर्जा प्रदान करता है, जिससे आप खुद को दिनभर तरोताजा महसूस करेंगे। 


Child

गुनगुने तेल से बच्चे की मालिश करें 

आप तो जानती ही होंगी कि गुनगुने तेल से बच्चे की मालिश करने से उसकी सेहत को कितना फायदा मिलता है। मालिश करने से पहले तेल को जांच लें कि कहीं ज्यादा गुनगुना न हो जाएं। इससे त्वचा को पूरा पोषण मिलता है और नरमी बरकरार रहती है। नियमित रूप से गर्म तेल की मालिश से आपके बच्चे की त्वचा खिल जाएगी। 

बेबी स्क्रब का यूज़ करें 

बच्चो की त्वचा नाजुक होती है और स्क्रबिंग नुकसान पहुंचा सकती है। शिशुओं के चेहरे और पीठ सहित उनके शरीर पर बाल होते हैं इन बालों के जड़ कमजोर होते हैं और ये अप्राकृतिक भी लगते हैं। इन बालों की जरुरत थी जब आपका बच्चे गर्भ में था। जनम के बाद आपके बच्चे को इसकी कोई जरुरत नहीं। ये खुद बा खुद ख़तम हो जाएंगे। लकिन इसमें वक्त लगेग। स्क्रबिंग एक आसान तरीका है जिसकी मदद से आप अपने बच्चे को उसके इन बालों से छुटकारा दिला सकते हैं। बेसन, पानी, दूध और बेबी तेल को सामान रूप से मिलाएं। 

बच्चे को फलों का रस पिलाएं

बच्चे को प्रतिदिन थोड़ा-थोड़ा औरेंज जूस, एप्पल जूस और ग्रेप जूस पिलाएं। इससे उसकी त्वचा म े ंनिखार आएगा। जू सतब पिलाएं जब आपका बच्चा 6 महीना पार कर चुका हो। अंगूर के रस के साथ अपने बच्चे को दूध पिलाने से एपिडर्मिस की चमक बढ़ जाएगी। 

साबुन से न नहलाएं 

बच्चों को हर तरीके के साबुन से न नहलाएं। उसे सिर्फ दूध या गुलाब जल से ही स्नान कराएं। अगर ऐसा न कर पाएं तो बेबी सोप का इस्तेमाल करें। 

चंदन पावडर लगाएं 

एक चम्मच चंदन पाउडर लें और उसमें कुछ दूध की बू ंदे मिलाकर पेस्ट बना दें। उस पेस्ट में हल्की भी आधा चम्मच डाल दें। इस पैक को बच्चे की बॉडी पर लगाएं। इससे बच्चे के शरीर पर होने वाले दाने दूर हो जाएंगे और त्वचा साफ हो जाएगी। 


Makeup

मेकअप करना हर महिला को पसंद होता है। मौसम कैसा भी महिलाएं मेकअप करने के लिए सबसे पहले बेस लगाती हैं। चेहरे पर बेस लगाने के लिए फाउंडेशन का इस्तेमाल किया जाता है। फाउंडेशन का इस्तेमाल चेहरे के दाग धब्बे को कम करने के लिए किया जाता है साथ ही चेहरे पर स्मूद बेस बनाने के लिए फाउंडेशन का इस्तेमाल किया जाता है। सर्दियों के मौसम में स्किन ड्राई हो जाती है। रुखी त्वचा पर फाउंडेशन लगाना बहुत ही मुश्किल होता है। सर्दियों के मौसम में फाउंडेशन सही तरीके से ना लगाएं तो इससे स्किन ज्यादा ड्राई और फ्लेकी हो जाती है। अगर ठंड में आपके साथ भी फाउंडेशन लगाते समय परेशानी आती है तो आप इन टिप्स को फॉलो कर सर्दियों में फाउंडेशन का अच्छा बेस बना सकते हैं। 

प्राइमर 

फाउंडेशन लगाने से पहले चेहरे पर प्राइमर लगाया जाता है जिससे स्किन पर फाउंडेशन का परफेक्ट बेस बना रहे। सर्दियों के मौसम में हाइड्रेटिंग प्राइमर का इस्तेमाल करना चाहिए। इस प्राइमर से स्किन लंबे समय तक हाइड्रेट बनी रहती हैं। साथ ही फाउंडेशन लगाते समय रुखापन की समस्या खत्म हो जाती है। 

मॉइश्चराइजर 

सर्दियों के मौसम में स्किन ड्राई हो जाती है ऐसे में फाउंडेशन लगाने से पहले चेहरे पर मॉइश्चराइजर जरुर लगाना चाहिए। मॉइश्चराइजर लगाने से चेहरे की ड्राईनेस कम हो जाती है। इसके बाद चेहरे पर फाउंडेशन लगाएं। इसे आपको स्मूद फिनिश लुक मिलेगा। 

सही फाउंडेशन लगाएं 

मौसम चेंज होने के साथ साथ स्किन की जरुरत भी चेंज हो जाती है। सर्दियों में स्किन ड्राई हो जाती है इस मौसम में पाउडर बेस्ड फाउंडेशन को ना चुनें। क्योंकि इससे स्किन ज्यादा मैट और ड्राई हो जाएगी। पाउडर बेस्ड फाउंडेशन स्किन के ऑयल को अब्जार्ब करता है जो कि सर्दियों के लिए ठीक नहीं है। सर्दियो में क्रीमी या फिर ऑयल वाला पाउंडेशन का चयन करें। क्रीमी फाउंडेशन स्किन पर आसानी से फैलता है। साथ ही स्मूद लुक देता है। 

फाउंडेशन लगाने का सही तरीका 

सर्दियों में फाउंडेशन लगाने का तरीका बहुत जरुरी होता है। इस मौसम में ब्रश से मेकअप करना सही नहीं माना जाता है। सर्दियों के मौसम में रुखी और सेंसेंटिव स्किन के लिए आप ब्लूटी ब्लेंडर का इस्तेमाल करें। इससे चेहरे पर फाउंडेशन अप्लाई करना आसान होता है। ब्लूटी ब्लेंड को गीला करें और इसका अतिरिक्त पानी नचोड़ लें। इसके बाद ब्यूटी ब्लेंडर से चेहरे पर फाउंडेशन लगाएं। यह आपको स्मूद फिनिश देगा। 


Cherry

आज हम ऐसे फल के बारे में बताने वाले हैं, जो औषधीय गुणों से भरपूर एक पौष्टिक फल है, जिसे ताजा, सूखा, जमा हुआ या रस के रूप में सेवन किया जा सकता है, हम जिस फल की बात कर रहे हैं वो है चेरी का फल, ये किसी भी तरह से खाया जा सकता है फिर चाहे मिठाई हो या जूस, आज हम आपको इसके जबरदस्त फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं। चेरी के छिलके में कई एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, इसमें कार्बोहाइड्रेट, विटामिन छ, विटामिन घ, विटामिन भ, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, फॉस्फोरस जैसे तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं, जो हमारी सेहत के लिए किसी वरदान से कम नही है। 

  •  हृदय रोग के खतरे को कम करे 
  • चेरी में पोटेशियम होने के कारण इसका सेवन हृदय रोग के खतरे को कम करता है। 
  • कैंसर से लड़ने में सक्षम 
  • चेरी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व कैंसर से लड़ने में मददगार होते हैं। 
  • गठिया के दर्द में लाभकारी 
  • चेरी का सेवन करने से यूरिक एसिड का बनना कम हो जाता है जो गठिया स े पीड़ि तलोगा े ंको राहत दे ता है ।
  • तनाव से दिलाये राहत 
  • जो लोग चेरी का नियमित सेवन करते हैं, उन्हें मानसिक तनाव और अनिद्रा जैसी परेशानियों से राहत मिलती है। 
  • हड्डियों को दे मजबूती 
  • चेरी में विटामिन भ और कैल्शियम होता है, ये हड्डियों को मजबूती प्रदान करते हैं, कमजोर हड्डियों वालो को इसका सेवन जरूर करना चाहिए। 

Pudina

पुदीना हमारी पाचन क्रिया के लिए बहुत फायदेमंद है। इसे हम माउथ फ्रेशनर के रूप में भी प्रयोग में ला सकते है। यह हमारे हाजमे को दुरुस्त रखता है। पुदीना का सेवन लू लगने पर भी किया जाता है। यह खाने में बहुत स्वादिष्ट होता है। इसकी चटनी खाने का सवा बढ़ा देती है। हिचकी आ रही हो तो पुदीने का सेवन करें। हिचकी बंद हो जाएगी। आइए जानते है पुदीने के और कौन कौन से औषधीय लाभ है - 

  • चरम रोगो में पुदीना बहुत फायदेमंद होता है। पुदीने अनेक प्रकार के त्वचा रोगो को दूर करने में सहायक होते है। पुदीने का लेप त्वचा पर लगाने से चर्म रोग में लाभ मिलता है। 
  •  पुदीना हैजा रोग में बहुत लाभदायक है। हैजा होने पर पुदीने के रस में प्याज का रस व नीबू का रस मिलाकर पीएं। लाभ मिलेगा। 
  •  अपच होने पर पुदीने का रस मिलाकर पीएं, लाभ मिलेगा। 
  •  अगर किसी व्यक्ति को बराबर उल्टी आ रही है तो उस रोगी को समय समय पर पुदीने का रस मिलाते रहे। ऐसा करने से उल्टी से राहत मिलेगी। 
  •  ज्वर आने पर पीड़ित व्यक्ति को पुदीने का पानी पिलाना चाहिए। पुदीने के पानी में थोड़ी सी चीनी मिलाकर रोगी को पुदीने के पानी को चाय की तरह गर्म पीना चाहिए। 
  •  पुदीने का लेप त्वचा पर लगाकर 15-20 मिनट रहने दे फिर ठंडे पानी से मुंह धो लें। त्वचा को शीतलता मिलेगी। 




Diego Maradona

नई दिल्ली

डिएगो मैराडोना का 60 साल की उम्र में हार्ट अटैक से निधन हो गया। दो हफ्ते पहले ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिली थी। तब उन्हें ब्रेन सर्जरी के लिए भर्ती करवाया गया था। मैराडोना की गिनती महान फुटबॉलर्स में होती है और उन्होंने 1986 में अर्जेंटीना को वर्ल्ड कप जिताने में अहम रोल निभाया था। 

इस टूर्नामेंट में उनका वर्ल्ड फेमस गोल भी शामिल है, जिसे 'हैंड ऑफ गॉड' के नाम से जाना जाता है। इसी गोल की मदद से अर्जेंटीना ने इंग्लैंड को टूर्नामेंट से बाहर कर दिया था। 

अर्जेंटीना के मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ब्रेन सर्जरी के बाद मैराडोना को 11 नवंबर को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया था। लेकिन मैराडोना वक्त से पहले ही घर के लिए रवाना हो गए थे, क्योंकि सड़कों पर उनके हजारों प्रशंसक एक झलक पाने के लिए उमड़ आए थे। मैराडोना ने बोका जूनियर्स, नपोली, बार्सिलोना जैसे क्लब से फुटबॉल खेली। दुनियाभर में उनके करोड़ों चाहने वाले हैं। अर्जेंटीना से खेलते हुए मैराडोना ने इंटरनेशनल करियर में 91 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 34 गोल किए। उन्होंने 4 फीफा वर्ल्ड कप टूर्नामेंटों खेला, जिसमें 1986 का विश्व कप शामिल था। 1986 वर्ल्ड कप में वे अर्जेंटीना के कैप्टन भी थे। 


Greg Barclay

नई दिल्ली 

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसलि को करीब छह महीने के लंबे अंतराल के बाद ग्रेग बार्कले के रूप में नया अध्यक्ष मिल गया है। ग्रेग बार्कले आईसीसी अध्यक्ष पद पर भारत के शंशाक मनोहर को रिप्लेस करेंगे। साल 2012 से ग्रेग बार्कले न्यूजीलैंड क्रिकेट के डायरेक्टर का जिम्मा संभाल रहे हैं। ग्रेग बार्कले ने वर्तमान में आईसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष इमरान ख्वाजा को मात देकर यह पद हासिल किया है। शंशाक मनोहर के इस्तीफा देने के बाद से ही इमरान ख्वाजा आईसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष चुने गए थे। ग्रेग बार्कले आईसीसी में भी न्यूजीलैंड क्रिकेट का प्रतिनिधितत्व करते आए हैं और वह अपने इस पद से इस्तीफा देंगे। ग्रेग बार्कले को क्रिकेट के एक कुशल प्रशासक के तौर पर जाना जाता है और वह ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड में 

 हुए 2015 वनडे क्रिकेट वर्ल्ड कप के डायरेक्टर भी रहे हैं। इसके अलावा बार्कले के पास ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड में कई कंपनियों के डायरेक्टर का पद संभालने का अनुभव है। बार्कले दूसरे राउंड में कुल 11 वोट लेकर इमरान  

 ख्वाजा से आगे रहे। इमरान ख्वाजा जुलाई में शशांक मनोहर के आईसीसी चेयरमैन से रिजाइन देने के बाद से अंतरिम चेयरमैन थे। 

पहले राउंड में इलेक्ट्रॉनिक बैलट से डाले गए 16 वोट में से 10 बार्कले और छह वोट ख्वाजा को मिले थे। स्पष्ट बहुत नहीं मिलने पर दूसरे राउंड का चुनाव हुआ और इसमें पहले राउंड की तरह पूरी प्रक्रिया को अपनाया गया। 


MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget