13 दिन तक नही मनेगा अमेठी मे भाजपा की जीत का जश्न

अमेठी
बरौलिया के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्या से पूरी भाजपा हतप्रभ है। पार्टी के जिलाध्यक्ष दुर्गेश त्रिपाठी ने कहा कि हमने अपना वह साथी खो दिया है, जिससे पूरी पार्टी को जूझने  की ताकत मिलती थी। भाजपा जिला कार्य समिति के सदस्य सुरेंद्र सिंह की हत्या से पार्टी संगठन की सभी इकाइयों के लोगों का मन इतना आहत है कि हम आने वाले 13 दिनों में  किसी भी तरह का कोई भी जीत का जश्न नहीं मनाएंगे।
जिलाध्यक्ष ने बताया कि अमर बोझा गांव में उमड़ा कार्यकर्ताओं का हुजूम यह बताने को काफी है कि सुरेंद्र सिंह का पार्टी में क्या योगदान था। जिलाध्यक्ष ने कहा कि सूचना मिलते  ही नव निर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी ने भी दिल्ली के सभी कार्यक्रम छोड़ सीधे अमर बोझा पहुंची। जिलाध्यक्ष ने कहा कि पूरी पार्टी सुरेंद्र सिंह के परिवार के साथ खड़ी है। उनकी  हत्या में शामिल लोगों को अतिशीघ्र गिरक्तार कर कठोर से कठोर दंडात्मक कार्रवाई करने की पुलिस प्रशासन से मांग की गई है। भाजपा कार्यकर्ता और बरौलिया के पूर्व प्रधान सुरेंद्र  सिंह की हत्या की खबर पाकर रविवार सुबह ही तिलोई विधायक मयंकेश्वर शरण सिंह बिना कुछ खाए पिए बरौलिया गांव पहुंच गए। उसके बाद लगातार वह परिवार के साथ बने रहे  और सांसद स्मृति ईरानी भी लगातार उनके संपर्क में रहीं। दोपहर बाद जब स्मृति ईरानी बरौलिया अमर बोझा के गांव पहुंचीं और शव की अंतिम यात्रा शुरू हुई तो उसमें विधायक  तिलोई ही सबसे आगे चल रहे थे। सारी व्यवस्था भी वह खुद ही संभाल रखे थे। अंतिम संस्कार के समय जब सुरेंद्र की चिता जल रही थी, तभी अचानक विधायक तिलोई का वीपी  और शुगर नीचे गिर गया, जिससे वह अचानक अचेत हो गए।
हालांकि मौके पर मौजूद एंबुलेंस और चिकित्सकों की टीम ने उन्हें संभाला और स्मृति भी दौड़कर उनके करीब पहुंचीं और जब विधायक के चालक और गनर से उनके अचेत होने के  बारे में पूछा तो पता चला कि विधायक सुबह से बिना कुछ खाए पिए ही यहां आ गए थे, जबकि वह शुगर के मरीज हैं। चिकित्सकों ने भी स्मृति को बताया कि मधुमेह की बीमारी  में खाली पेट रहने से ऐसी समस्या आ जाती है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget