पानी के अवैध काओबार पर कसेगा शिकंजा

लखनऊ
लगातार गिरते भूजल के स्तर को लेकर सरकारी मशीनरी अब सक्रिय हो रही है। प्रशासन ने भूजल दोहन कर कारोबार करने वालों पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू कर दी है।  डीएम के निर्देश पर चार विभागों की टीम बनाई गई है, जो कारोबार करने वालों की जांच करेगी।
जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के मुताबिक लगातार गिरता भूजल हम सबके लिए चिंता का विषय है। हजारों लोग दोहन कर कारोबार कर रहे हैं। इन पर सक्ती बरतने की जरूरत  है। इसके लिए चार विभागों की टीम बना दी गई है। इसमें नगर निगम, लेसा, वाणिज्यकर और पुलिसप्रशासन के लोग रहेंगे, जो पानी का कारोबार करने वालों की जांच करेगी।  इसके तहत लाइसेंस, बिजली के कनेक्शन, सबमर्सिबल लगाया उस जमीन का स्वामित्व और टैक्स के बारे में पड़ताल की जाएगी। राजधानी में बड़े पैमाने पर पैक्ड पानी का कारोबार   होता है, जिनमें हजारों लोग बिना लाइसेंस के ही धंधा कर रहे हैं। इससे जहां टैक्स की चोरी तो हो रही है भूजल के लिए भी खतरनाक संकेत हैं। इनमें अधिकतर के पास बिजली के  कनेक्शन भी नहीं है। इसके अलावा जगह-जगह वाहन धोने वाले गैराज और टैंकरों से पानी बेचने वालों की भी जांच होगी। किसी को भी पानी का दोहन नहीं करने दिया जाएगा।  टास्क फोर्स का मुख्य काम इन सभी बिंदुओं की जांच करना है, ताकि पानी के बेजा इस्तेमाल पर रोक लगाई जा सके।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget