बजट मे शहद उत्पादन को बढ़ावा देने की मांग

मधुमक्खी पालन से किसानों की बढ़ेगी कमाई

नई दिल्ली
पांच जुलाई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में आम बजट पेश करने जा रही हैं। इस बजट से किसानों को काफी उम्मीदें हैं, खासकर खेतीबाड़ी से जुड़ी उन योजनाओं को  बढ़ावा दिए जाने की उम्मीद हैं, जिनसे किसानों की आमदानी में इजाफा होगा। ऐसा ही एक सेक्टर है शहद उत्पादन का। मधुम€खी पालन और शहद उत्पादन को बढ़ावा देकर सरकार  इस उद्योग से जुड़े लोगों के हित में कई फैसले ले सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने में मधुम€खी पालन का महत्वपूर्ण योगदान हो सकता  है। शहद की घरेलू और निर्यात बाजार में मांग लगातार बढ़ रही है। राष्ट्रीय मधुम€खी पालन विकास समिति के सदस्य देवव्रत शर्मा ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने प्रधानमंत्री की  आर्थिक सलाहकार परिषद के समक्ष मधुम€खी पालन को बढ़ावा दिए जाने के बारे में समिति ने विस्तृत प्रस्तुतीकरण दिया है। देवव्रत शर्मा ने बताया कि प्रधानमंत्री की वर्ष 2022 तक  किसानों की आय दोगुनी करने और वर्ष 2024 तक भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार 5,000 अरब डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए अर्थव्यवस्था की विकास दर दहाई अंक में ले जाने की जरुरत होगी।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget