जेट के खिलाफ विदेशी वेंडर भी पहुंचे दिवालिया अदालत

मुंबई
जेट एयरवेज के पायलट, इंजीनियर्स के संगठन और नीदरलैंड के दो वेंडर भी बुधवार को दिवालिया अदालत पहुंच गए। पायलट और इंजीनियर जेट के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया में  पार्टी बनना चाहते हैं। विदेशी वेंडर्स ने अपने हित सुरक्षित रखने के लिए याचिका (इंटरवेन्शन पिटीशन) दायर करने की इजाजत मांगी है। इन पर नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल   (एनसीएलटी) आज सुनवाई करेगा। जेट के खिलाफ बैंकों की दिवालिया याचिका पर भी सुनवाई होगी। जेट एयरवेज पर 23,000 कर्मचारियों के वेतन के 3,000 करोड़ रुपए बकाया  हैं। कर्मचारियों को मार्च से सैलरी नहीं मिली है। इंजीनियर्स और पायलट्स को दिसंबर 2018 से टुकड़ों में वेतन दिया गया था। जेट पर वेंडर्स और लीजदाताओं के 10,000 करोड़  रुपए बकाया हैं। एसबीआई के नेतृत्व वाले 26 बैंकों के कंसोर्शियम ने जेट एयरवेज के खिलाफ सोमवार को दिवालिया प्रक्रिया में जाने का फैसला लिया और मंगलवार को एनसीएलटी  की मुंबई बेंच में याचिका दायर की थी।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget