पुलिस ट्रेनिंग सेंटर की सुरक्षा में सेंध

मेरठ
पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय में सोमवार रात फर्जी तरीके से प्रशिक्षण लेते हुए एक महिला प्रशिक्षु को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास से परिचय पत्र बेल्ट और टोपी सहित अन्य सामग्री बरामद हुई हैं। पुलिस ट्रेनिंग सेंटर के हवलदार मेजर ने मुकदमा दर्ज कराया है। इस प्रकार पुलिस सुरक्षा में सेंध लगा फर्जी तरीके से प्रशिक्षण ले रही महिला के पकड़े जाने से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा है। पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय में हवलदार मेजर के पद पर तैनात ओतारी सिंह ने बताया कि सोमवार रात करीब आठ बजे वह महिला प्रशिक्षुओं की गिनती कर रहे थे। 401 प्रशिक्षुओं के स्थान पर 402 प्रशिक्षु मिलीं। उन्होंने दोबारा गिनती की लेकिन संब्या वही मिली। उन्होंने टोली नंबर 12 के कमांडर से बात की तो पता चला कि एक महिला प्रशिक्षु अवकाश के बाद बरेली से प्रशिक्षण पर आई है। बरेली के प्रतिसार निरीक्षक से जानकारी मांगी तो उन्होंने अनभिज्ञता जता दी। वार्डन उपनिरीक्षक रंजना वर्मा ने कार्यालय में पता किया तो वहां भी आमद दर्ज नहीं थी। जांच में मामला फर्जी निकला।  तलाशी के दौरान महिला प्रशिक्षु के पास से एक परिचय पत्र बेल्ट और टोपी सहित अन्य चीजें मिली हैं। महिला के पास प्रीति पुत्र राजकुमार निवासी जलालपुर बिजनौर और आधार कार्ड मिला है। हवलदार मेजर उतारी सिंह ने महिला के खिलाफ खरखौदा थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।महिला को हिरासत में लेकर आशा ज्योति केंद्र में पूछताछ की जा रही है। गौरतलब है कि पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय जहां सुरक्षा के मद्देनजर कई चरणों पर  छानबीन की जाती है, वहां इस प्रकार कई दिनों से फर्जी प्रशिक्षु का ट्रेनिंग लेना पुलिस सुरक्षा को ही कटघरे में खड़ा करता है। इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि इस महिला प्रशिक्षु को ट्रेनिंग दिलाने में पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय के ही किसी अधिकारी या इंस्टेक्टर का सहयोग हो। 
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget