बाढ़ प्रभावितों के घर पर गूंजेगा बाप्पा मोरया का जयघोष

मुंबई
महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री और कोल्हापुर जिले के पालक मंत्री चंद्रकांत दादा पाटिल ने कोल्हापुर जिले के कुरुंदवाड़ में कुंभार समुदाय के माध्यम से 500 गणेश मूर्तियां स्थानीय लोगों  को उपलब्ध कराई हैं। गणेशोत्सव मनाने के लिए गणेश मूर्ति दी जा रही है, ताकि राहत और फिर से जीवन को पटरी पर लाने की आराधना की जा सके। चंद्रकांत पाटिल ने शुक्रवार  को तीन गणेश मूर्तियों को देकर इस अभियान की शुरुआत की। कोल्हापुर में बाढ़ के कारण कुरुंदवाड़ में कुंभार समुदाय के भाइयों को बहुत नुकसान हुआ है। दादा की इस पहल से  इस समुदाय को राहत मिलेगी, साथ ही स्थानीय लोगों को गणेशोत्सव के साथ एकजुट होने का अवसर मिलेगा। कुरंदवाड शहर में गणेशोत्सव की बहुत पुरानी परंपरा है। यहां तक कि  मस्जिदों में गणपति स्थापना की परंपरा सौ वर्षों से चली आ रही है। शहर की सात मस्जिदों में गणेशोत्सव मनाया जाता है, जिससे सामाजिक सद्भाव और एकता को बढ़ावा मिलता  है। हालांकि, इस साल, अचानक आई बाढ़ के कारण कुंभार समुदाय के लोगों द्वारा बनाई गईं गणेश मूर्तियों को काफी नुकसान पंहुचा। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा कर रहे पालक  मंत्री चंद्रकांत दादा पाटिल ने कुरुंदवाड़ में कुंभार समुदाय के भाइयों की समस्याओं के बारे में जाना। दादा ने उनको मदद और राहत देने का एलान किया। दरअसल कुंभार समुदाय के  लोग बड़ी संख्या में हर साल गणेश मूर्तियां बनाकर उनकी बिक्री करते हैं, लेकिन इस बार प्राकृतिक आपदा के कारण उनके पास अपने घर में भी पारंपरिक त्यौहार मनाने के लिए  मूर्तियां नहीं बचीं। कुंभार समुदाय गणेशोत्सव को अपने व्यापार के लिए शुभ मानते हैं, लेकिन इस बार अपने घर के लिए भी मूर्ति नहीं मिल पाने से समुदाय में निराशा का माहौल  था। दादा की घोषणा से उनमें विश्वास का संचार हुआ है। इन मूर्तियों को पेण पनवेल से कुरुंदवाड़ लाया गया है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget