किडनी फेल होने से पहले शरीर में दिखाई देते हैं पांच बदलाव

मनुष्य के शरीर के सबसे जरूरी अंगों में से एक किडनी, जो न केवल शरीर से अतिरिक्त पानी के साथ हमारी बॉडी में मौजूद हानिकारक और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का  काम करती है, बल्कि खून को भी साफ करने जैसा जरूरी काम करती है। इंसानी शरीर में दो किडनी होती है और अक्सर एक के खराब होने पर दूसरी किडनी शरीर के दूसरे जरूरी  काम करती है। मौजूदा वक्त में व्यस्त और खराब जीवनशैली व खानपान की गलत आदतों के कारण लोगों की कम उम्र में किडनी संबंधी समस्याएं होने लगी है, जिसके कारण बहुत  से लोगों को किडनी फेल भी हो जाती है। हालांकि किडनी फेल होने से पहले शरीर में इसके लक्षण दिखाई देने लगते हैं, अगर समय रहते इन्हें पहचान लिया जाए तो इस गंभीर से  बड़ी आसानी से बचा जा सकता है। अगर आप भी किडनी से जुड़ी किसी गंभीर समस्या से परेशान हैं और आपको भी डर सता रहा है कि कही आप भी किडनी फेलियर का शिकार  न हो जाएं तो हम आपको किडनी फेल होने से पहले ही शरीर द्वारा दिए जाने वाले ऐसे पांच संकेतों के बारे में बता रहे हैं, जो आपकी किडनी को बचा सकते हैं।

पेशाब के साथ खून आना
अगर आप पहले से ही किडनी संबंधी समस्या से परेशान हैं और इस बात को लेकर चिंतित हैं कि कहीं आप किडनी फेल होने का शिकार न हो जाएं तो आपके लिए इस बात का  ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि जब आप पेशाब कर रहे हो, तो उस वक्त खून न आए। पेशाब करते समय उसमें खून आना किडनी खराब होने का एक संकेत हो सकता है इसलिए   आप तुंरत यूरोलॉजिस्ट से संपर्क करें।

अचानक शरीर का वजन बढ़ना
शरीर का वजन अचानक बढ़ना और अन्य अंगों में सूजन आना किडनी के खराब होने का एक अन्य संकेत है इसलिए ध्यान रखें कि आपके हाथ-पैर या शरीर के किसी अन्य अंग में  सूजन न आएं। अगर किसी कारणवश सूजन आ रही है, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

पेशाब कम, ज्यादा आना
अगर आपको बार-बार पेशाब या फिर कम पेशाब आ रहा है, तो आपको इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। बार-बार पेशाब आना किडनी के अस्वस्थ होने का एक कारण है। इसलिए  जरूरी है कि इस स्थिति में आप तुरंत किसी डॉक्टर को दिखाएं। स्वभाव में चिड़िचिड़ापन आना किडनी के खराब होने के कारण दिमाग में ऑक्सीजन की कमी आ जाती है, जिसके  कारण व्यक्ति के स्वभाव में चिड़चिड़ापन और एकाग्रता की कमी आ जाती है और उसका किसी काम में मन नहीं लगता।

सांस लेने में दिक्कत महसूस होना
किडनी खराब होने पर शरीर में अतिरिक्त पानी जमा हो जाता है, जिसके कारण फेफड़ों में पानी भर जाता है और उनकी कार्य क्षमता भी प्रभावित होने लगती है, जिससे व्यक्ति को   सांस लेने में परेशानी होने लगती है। अगर आपको भी इस प्रकार की परेशानी महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से जांच करवाएं।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget