'फसल बीमा योजना से लाखों किसानों को फायदा'

मुंबई
मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने कहा कि, पिछले पांच सालों में राज्य के किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 2161 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया है और बदले में  उन्हें 14,940 करोड़ रुपए बीमा कंपनियों से वापस मिले हैं। फसल बीमा योजना में सरकारी कंपनियों का हिस्सा 60 प्रतिशत था और अब यह हिस्सा शत प्रतिशत सरकारी कंपनियों  के पास है। इसलिए इन आरोपों में कोई दम नहीं है कि, फसल बीमा योजना से केवल प्राइवेट कंपनियों को फायदा होगा। महाजनादेश यात्रा के दूसरे दौर के दौरान शनिवार को  जलगांव में पत्रकारों को संबोधित करते हुए सीएम फड़नवीस ने कहा कि हम संभाव्य नुकसान की भरपाई के खातिर सुरक्षा कवच के तौर पर बीमा कराते हैं। हम अपनी गाड़ी का  बीमा कराते हैं और अगर कोई नुकसान नहीं हुआ होता है तो बीमा कंपनी के पास पैसे मांगने नहीं जाते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि, हम बीमा कंपनी के फायदे के लिए बीमा  कराते हैं। पिछले साल महाराष्ट्र के 91 लाख किसानों ने फसल बीमा योजना के अंतर्गत 468 करोड़ रुपए का भुगतान करके 18269 करोड़ रुपयों के बीमा की निश्चिति की। जिनका  नुकसान हुआ उनको बीमा कंपनियों से 3,255 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया। उन्होंने आगे कहा, फसल बीमा योजना अभी नई है और उसमें कुछ सुधार की जरूरत है।  मराठवाड़ा के कुछ किसानों को तकनीकी मुद्दों की वजह से बीमा का लाभ नहीं मिला। सरकार कंपनियों से चर्चा करके उन्हें उचित लाभ का प्रावधान कर देगी। या फिर सरकार उन्हें  उचित लाभ दे देगी। सीएम फड़नवीस ने देश में अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा किए गए उपायों की सराहना करते हुए कहा कि, बैंकों को   70 हजार करोड़ रुपए की सहायता करने का फैसला हो, या फिर अतिरिक्त संसाधनों से पांच लाख करोड़ रुपए उपलब्ध कराने का फैसला हो, इनसे बाजार में बड़े पैमाने पर पैसा   आएगा और उद्योग और व्यापारियों को फायदा होगा। Žयाज दरों को रेपो रेट के साथ जोड़ना भी महत्वपूर्ण है। रिजर्व बैंक Žयाज दर कम करता है, लेकिन अन्य बैंक उसका अनुसरण  नहीं करते। इस वक्त का रेपो रेट पिछले नौ सालों में सबसे कम है। इन फैसलों से ग्राहकों को उसका लाभ मिलेगा। ऑटोमोबाइल उद्योगों में अभी मंदी की बात चल रही है, लेकिन  इन फैसलों से बाजार में तेजी आएगी। ग्राहकोपयोगी वस्तुओं की मांग में सुधार होगा और व्यापार उद्यमों को विशेष फायदा होगा। इस दौरान जलसंसाधन मंत्री गिरीश महाजन,  वरिष्ठ नेता एकनाथ खडसे, कामगार मंत्री संजय कुटे, यात्रा प्रमुख और भाजपा प्रदेश महासचिव विधायक सुजितसिंह ठाकुर, सांसद विकास महात्मे और भाजपा प्रदेश सहायक मुख्य  प्रवक्ता केशव उपाध्ये मौजूद थे।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget