वायरल फीवर से बच्चों को बचाने के लिए जरूर बरतें ये सावधानिया

मानसून जहां एक तरफ आपको बारिश की बूंदों से गर्मी में राहत दता है, वही यह आपको बहुत सी बीमारियों के घेरे में भी ले आता है। जी हां, इस मौसम में फैलने वाले बैक्टेरिया  से होने वाले इंफेक्शन से हर कोई बीमार पड़ जाता है। इसमें बच्चों को इंफेक्शन जल्दी फैलता है। बारिश में वायरल होने की संभावना अधिक होती है। वायरल बुखार बच्चों को  अपना शिकार बना रही हैं। वायरल बुखार में सिरदर्द, शरीर का तपना, पेट में दर्द, डायरिया, उल्टी जैसी कई शिकायतें होने लगती हैं, लेकिन इससे आपको चिंता करने की जरूरत  नहीं है हम आपको इसके लिए कुछ घरेलु तरीके बताने जा रहे हैं जो वायरल फीवर में काम आएंगे।

अदरक-तुलसी की चाय या काढ़ा
पानी को उबालें  और उसमें पांच से 10 पत्तियां तुलसी की उबालें और इस पानी का सेवन करें। इससे आपको तुंरत आराम मिलेगा। आप अदरक तुलसी की चाय भी बनाकर पी सकते हैं।

धनिया का पानी
धनिया में कई तरह के न्यूट्रीएंट्स और विटामिन पाए जाते हैं। जिस वजह से इस बुखार में धनिया वाले पानी का सेवन काफी लाभदायक रहता है। धनिया नेचुरल तरीके से एंटी  बायोटिक का काम करके वायरल की वजह से शरीर में आइ कमजोरी को दूर करने का काम करता है।

लहसुन
लहसुन की एक- दो कलियों पर ऑलिव ऑयल लगाकर इससे पैर के तलवों की मसाज करें। मसाज करने के बाद रात भर पैरों को कपड़े के साथ बांध कर सोएं।

सिरका
नहाने के पानी में आधा कप सिरका मिला लें और कम से कम दस मिनट तक उसे ऐसा ही रहने दें। इस पानी का इस्तेमाल नहाते वक्त करें। इन सब उपायों का इस्तेमाल करते  वक्त ध्यान में रखें कि आपका बुखार कम हो। यदि इन सबके बावजूद बुखार कम नहीं हो रहा तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget