नेट बैंकिंग करने वालों के लिए बड़ी खबर

26 अगस्त से बदल जायेगा ये नियम


नई दिल्ली
अगर आप भी बच्चों की फीस का भुगतान करने या फिर अन्य पेमेंट करने के लिए नेट बैंकिंग करते हैं तो यह खबर आपके लिए है। नेट बैंकिंग के नियमों को आसान बनाने के  लिए आरबीआई की तरफ से लगातार बदलाव किए जा रहे हैं। पिछले दिनों रिजर्व बैंक ने एनईएफटी और आरटीजीएस से पेमेंट ट्रांसफर करने पर चार्ज खत्म करने का फैसला किया   था। इसके बाद दिसंबर से एनईएफटी को 24 घंटे शुरू करने के बारे में कहा गया है। अब बैंकिंग प्रणाली में एक और बदलाव से खाताधारकों को राहत मिलने वाली है। नए निर्णय के  तहत आरबीआई ने रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट के समय में बदलाव कर दिया है। अब आरटीजीएस करने के लिए ग्राहकों को पहले से ज्यादा समय मिलेगा। आरबीआई ने  आरटीजीएस सिस्टम का समय बढ़ा दिया गया है। अब सुबह 8 बजे के बजाय 7 बजे से आरटीजीएस शुरू होगा। नई सर्विस 26 अगस्त 2019 से लागू होगी। आपको बता दें कि  आरटीजीएस ट्रांजेक्शन (इंटरनेट बैंकिंग से पैसों का लेन-देन) रियल टाइम बेसिस पर होती है। आरटीजीएस का इस्तेमाल बड़े अमाउंट के ट्रांजेक्शन के लिए होता है। ट्रांजेक्शन करते  ही दूसरे अकाउंट में पैसा ट्रांसफर हो जाता है। दूसरे-चौथे शनिवार को बैंक की छुट्टी के साथ-साथ यह सर्विस बंद रहती है। वहीं, रविवार और बैंक की जबजब छुट्टी होती है ये सर्विस  बंद रहती है।
आरटीजीएस से कम से कम दो लाख रुपए या उससे ज्यादा की रकम ट्रांसफर की जाती है। इसकी कोई अधिकतम लिमिट नहीं है। हालांकि, इसके लिए खास समय निश्चित है।  रिजर्व बैंक ने आरटीजीएस ट्रांसफर की टाइमिंग में डेढ़ घंटा बढ़ाया है। आरटीजीएस की टाइमिंग अभी तक सुबह 8 बजे से थी, इसे अब सुबह 7 बजे से शुरू किया गया है। फिलहाल,  ग्राहकों के लिए आरटीजीएस के लिए शाम 6 बजे तक का वक्त मिलता था। वहीं इंटर-बैंक ट्रांजेक्शन की टाइमिंग सुबह 8 बजे से शाम 7.45 बजे तक होती है। नए आदेश के बाद  अब आरटीजीएस सुबह 7 बजे से शुरू होगा और शाम 6 बजे तक चलेगा। इसके अलावा इंटर बैंक ट्रांजेक्शन टाइमिंग भी सुबह 7 से शाम 7.45 बजे तक होगी। डिजिटल ट्रांजेक्शन  को प्रोमोट करने के लिए इसी महीने की शुरुआत में आरबीआई ने 24 घंटे फंड ट्रांसफर की सुविधा शुरू करने का ऐलान किया था। दिसंबर 2019 से एनईएफटी के जरिए 24 घंटे पैसे  ट्रांसफर की सुविधा मिलेगी। फिलहाल, एनईएफटी सुबह 8 से शाम 7 तक के लिए लागू रहती है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget