पीएमसी बैंक के खाताधारक रोज निकाल सकेंगे 10 हजार रुपए

PMC Bank
मुंबई
भारतीय रिजर्व बैंक ने पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉर्पोरेशन बैंक के अकाउंट होल्डर्स को गुरुवार को बड़ी राहत दी। केंद्रीय बैंक के एक निर्देश के मुताबिक खाताधारक अब अपने अकाउंट से  हर दिन 10,000 रुपए निकाल सकेंगे, जो पहले केवल एक हजार रुपए थी। आरबीआई ने यह भी कहा है कि इस सहूलियत के बाद  बैंक के 60% से अधिक खाताधारक बैंक में जमा  अपनी पूरी रकम निकाल सकने में सक्षम होंगे। आरबीआई ने कहा, 'खाताधारक अब अपने अकाउंट से हर दिन 10,000 रुपए निकाल सकेंगे (इसमें 1,000 रुपए की वह रकम   भी शामिल है, जिसे पहले निकाला गया होगा)। पंजाब एंड महाराष्ट्र को- ऑपरेटिव बैंक लि., भारतीय रिजर्व बैंक से लिखित रूप में पूर्वानुमति लिए बिना कोई भी ऋण और अग्रिम  मंजूर नहीं करेगा। इससे पहले, 23 सितंबर को रिजर्व बैंक ने एक नोटिफिकेशन जारी कर कहा था, 'बैंक को जारी निर्देश का अर्थ यह नहीं है कि उसका बैंकिंग लाइसेंस रद्द कर दिया  गया है। अगले निर्देश तक बैंक निकासी के इस प्रतिबंध के साथ काम करता रहेगा।' आरबीआई ने कहा कि फिलहाल बैंक पर यह प्रतिबंध छह महीने के लिए लगाया गया है। इस  बीच कांग्रेस के नेता संजय निरूपम के नेतृत्व में भांडुप स्थित बैंक की शाखा के सामने आंदोलन किया गया।
पीएमसी बैंक पर आरबीआई द्वारा छह महीने के लिए प्रतिबंध लगाने के बाद लोग सड़कों पर उतर आए हैं। एक ओर बैंक में अपना निवेश कर चुके सैकड़ों लोग निराश हैं तो दूसरी  ओर बैंक के कर्मचारी भी हैरान-परेशान है। पीएमसी बैंक के कर्मचारियों ने गुरुवार को हाउजिंग डिवेलपमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल) ग्रुप के मालिक के घर के बाहर धरना दिया।

2,500 करोड़ का लोन हुआ एनपीएएचडीआईएल कंपनी ने बैंक से करीब 2500 करोड़ रुपए का लोन लिया था और चुकाया नहीं। कंपनी पर बकाए इस लोन को बैंक ने आरबीआई की गाइडलाइंस के बावजूद एनपीए में  नहीं डाला था। वह भी तब जबकि कंपनी लोन को चुकाने में लगातार फेल होती रही। सूत्र ने बताया, 'आरबीआई गाइडलाइंस के मुताबिक ऐसे मामलों में बैंक को लॉस का जिक्र करना  चाहिए। पीएमसी बैंक का कैश रिजर्व ही कुल 1,000 करोड़ रुपए का है, जबकि कंपनी पर उसका 2,500 करोड़ रुपए का लोन बकाया है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget