2022 तक पीओके होगा भारत का हिस्सा : शिवसेना

मुंबई
जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद अब भारत पीओके को जम्मू- कश्मीर में शामिल करने के फेर में है। केंद्र सरकार में सहयोगी शिवसेना के नेता व राज्यसभा  सांसद संजय राउत ने कहा है कि पूरा कश्मीर हिंदुस्तान का का है और 2022 तक पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) भी आ जाएगा। शिवसेना नेता संजय राउत का यह बयान केंद्रीय   मंत्री जितेंद्र सिंह के उस बयान पर प्रतिक्रिया के रूप में आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि हमारा अगला एजेंडा पीओके को पुन: प्राप्त कर जम्मू- कश्मीर के अंतर्गत लाना है।  संजय राउत ने कहा, मोदी ने ट्रंप को साफ कहा है कि जम्मू-कश्मीर हमारा आंतरिक मामला है। 370 के हटने के बाद अब पाकिस्तान भी मानने लगा है। हिंदुस्तान ने कश्मीर पर  पूरा कब्जा कर लिया है। इमरान खान की बॉडी लैंग्वेज देख लिया ना, रंग उड़ गया है। अब कुछ दिनों में पीओके भी हमारा होगा। शिवसेना नेता ने आगे कहा, अब ये बात सब करने   लगे हैं कि पूरा कश्मीर हिंदुस्तान का है। मुझे भरोसा है कि 2022 के पहले पीओके भी कश्मीर में आ जाएगा। सब हमारे साथ हैं, अखंड हिंदुस्तान का टारगेट पूरा करके रहेंगे। बता  दें कि अब मोदी सरकार का अगला कदम पाक अधिकृत कश्मीर को जम्मू-कश्मीर के अंतर्गत लाना है। मोदी सरकार-2 के 100 दिन पूरे होने के मौके पर जम्मू में प्रेस को संबोधित  करते हुए केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा, कश्मीर से 370 हटने के बाद सिर्फ कश्मीरी पंडित ही नहीं बल्कि अन्य लोग भी कश्मीर में आना चाहते हैं। देश भर से यंग स्टार्ट्सअप  कश्मीर आना चाहते हैं, क्योंकि यहां संभावनाएं हैं। हमारा अगला एजेंडा पीओके को पुन: प्राप्त कर जम्मू-कश्मीर के अंतर्गत लाना है। उन्होंने कहा, ये सिर्फ मैं या  मेरा संगठन नहीं  कह रहा बल्कि 1994 में नरसिंहाराव की सरकार में पार्लियामेंट में यह बिल पास किया गया था। डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना सरकार का सबसे  बड़ा काम है। वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत ने दूसरे दलों से भाजपा या शिवसेना में आ रहे नेताओं को नसीहत दी है। राउत ने बुधवार को कहा कि सिर्फ मंत्री, सांसद या  विधायक बनने के लिए हमारे गठबंधन में शामिल न हों। यहां आने के पहले आपको हिंदुत्व की विचारधारा को आत्मसात करना होगा। राउत का यह बयान ऐसे समय आया है, जह  हाल ही में कांग्रेस और एनसीपी के कई नेता एनडीए में शामिल हुए हैं। कांग्रेस और शरद पवार के नेतृत्व वाली एनसीपी के कई नेता भाजपा या शिवसेना में शामिल हुए हैं। मंगलवार को ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कृपाशंकर सिंह ने पार्टी से इस्तीफा दिया। उनके भाजपा में जाने के कयास हैं।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget