भूकंप से पीओके में तबाही, आठ की मौत! 300 से ज्यादा घायल!!

इस्लामाबाद
मंगलवार शाम 4.33 बजे आए शक्तिशाली भूकंप से पाकिस्तान में भारी तबाही हुई है। सूत्रों के मुताबिक अब तक आठ लोगों  की मौत हो गई है और करीब 300 लोग घायल हुए  हैं। पाकिस्तान में कई जगहों पर 10 फीट तक सड़कें टूट गई हैं। उनमें गाड़ियां धंस गई हैं। लोग अपने घरों से बाहर निकल गए। भूकंप से पाकिस्तान के पंजाब, खैबर पक्तूनक्वा  प्रांतों और इस्लामाबाद के कई हिस्सों में तेज झटके को महसूस किया गया। यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार इस भूकंप का केंद्र पाक अधिकृत कश्मीर के मीरपुर,  जातलां में रहा। यह क्षेत्र लाहौर से उत्तर पश्चिमी दिशा में 173 किलोमीटर की दूरी पर है। यह भूकंप 10 किलोमीटर की उथली गहराई पर 5.8 तीव्रता का बताया गया। उत्तर भारत  में भूकंप के झटके, दिल्ली-एनसीआर भी हिला दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर भारत के बड़े हिस्से में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तान के  रावलपिंडी शहर से 80 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में जाटलान इस भूकंप का केंद्र था। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.3 मापी गई है। भारत में  पाकिस्तान से सटे जम्मू-कश्मीर में भूकंप की सबसे ज्यादा तीव्रता थी। भारतीय समयानुसार शाम 4:31 बजे भूकंप के झटके महसूस हुए। 2005 में मारे गए थे 73,000  से अधिक  लोग आठ अक्टूबर 2005 को 7.6 तीव्रता के भूकंप से पाकिस्तान प्रभावित हुआ था, जिसमें 73,000 से अधिक लोग मारे गए थे और लगभग 35 लाख लोग बेघर हो गए थे।  इसमें  मुख्य रूप से पीओके प्रभावित हुआ था।

नहर का तटबंध टूटा आसपास के गावों में पानी घुसा
मीरपुर में अपर झेलम नहर का तटबंध टूट गया है। उसका पानी आसपास के गावों में पानी घुस गया है। यह नहर पाकिस्तान की सबसे बड़ी नहरों में से एक है। नहर के रास्ते में  आने वाले लोगों को अलर्ट कर दिया है। ताजा जानकारी के अनुसार मंगला डैम से नहर की सप्लाई रोक दी गई है, ताकि कम नुकसान हो सके। इस  नहर से 10 से 15 गांव  प्रभावित हुए हैं। बचाव कार्य में बाधा आ रही है क्योंकि मुख्य सड़क टूट गई है।

कई शहरों में महसूस किए गए झटके
खबर के मुताबिक, भूकंप के कारण पाकिस्तान के इस्लामाबाद, रावलपिंडी, मुर्री, झेलम, चारसद्दा, स्वात, खैबर, एबटाबाद, बाजौर, नौशेरा, मनसेहरा, बत्तग्राम, तोगर और कोहितान में  तेज झटके महसूस किए गए। भूकंप के कारण प्रभावित क्षेत्रों में लोग सड़कों पर निकल गए। कई जगहों पर घरों के ध्वस्त होने की खबर है। पाकिस्तान का सैन्य और प्रशासन  बचाव कार्य में जुटा हुआ है। गुलाम कश्मीर के प्रधानमंत्री राजा फारूख हैदर मंगलवार को लाहौर का दौरा कर रहे थे, वह अपना दौरा छोड़कर गुलाम कश्मीर आ गए हैं। सेना के  मीडिया विंग ने ट्वीट किया कि सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने सेना के लिए गुलाम कश्मीर में भूकंप पीड़ितों के लिए नागरिक प्रशासन की सहायता में 'तत्काल बचाव अभियान' चलाने के लिए निर्देश जारी किया है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget