चुनाव में लगेगी 6.50 लाख कर्मचारियों की ड्यूटी

शांतिपूर्ण, पारदर्शी चुनाव के लिए मशीनरी तैयार

मुंबई
राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी बलदेव सिंह ने कहा कि राज्य में शांतिपूर्ण, पारदर्शी और सुरक्षित तरीके से चुनाव कराने के लिए मशीनरी तैयार है। उन्होंने मतदाताओं से अधिक से   अधिक मतदान का आव्हान किया। केंद्रीय चुनाव आयोग की तरफ से महाराष्ट्र में चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के बाद वे मंत्रालय में मीडिया से बात कर रहे थे। इस दौरान अतिरिक्त  मुख्य निर्वाचन अधिकारी दिलीप शिंदे भी उपस्थित थे। चुनाव कराने के लिए 6.50 लाख कर्मचारियों की नियुक्ति की जाएगी तथा जिन लोगों के नाम वोटर लिस्ट में शामिल नहीं हैं,  वे चार अक्टूबर तक आवेदन कर अपने नाम मतदाता सूची में शामिल करा सकते हैं।

8 करोड़ 94 लाख 46 हजार 211 मतदाता

बलदेव सिंह ने कहा कि राज्य में एक चरण में 21 अक्टूबर को मतदान होगा। चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। चुनाव के लिए 27 सितंबर को अधिसूचना जारी  होगी। 24 अक्टूबर को मतगणना होगी। राज्य में 31 अगस्त 2019 तक 4 करोड़ 67 लाख 37 हजार 814 पुरुष मतदाता, 4 करोड़ 27 लाख 5 हजार 777 महिला तथा 593 तृतीयपंथी मतदाताओं को मिलाकर कुल 8 करोड़ 94 लाख 46 हजार 211 मतदाता हैं। वोटर लिस्ट को अपडेट करने का काम फिलहाल शुरू है, जिन लोगों के नाम वोटर लिस्ट में  नहीं है, वे नामांकन पत्र भरने के अंतिम दिन अर्थात 4 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं। सिंह ने कहा कि जिनके नाम मतदाता सूची में नहीं है, वे जल्द से जल्द आवेदन करें।

96 हजार 654 मतदान केंद्र
उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव के वक्त 91 हजार 329 मतदान केंद्र बनाए गए थे, इसमें 5325 मतदान केंद्रों की वृद्घि कर कुल 96 हजार 654 मतदान केंद्र बनाए  जाएंगे। दिव्यांग और वरिष्ठ नागरिकों की सुविधा के लिए पहली और दूसरी मंजिल पर स्थित पांच हजार से अधिक मतदान केंद्र निचली मंजिल पर लाए गए हैं। साथ ही मतदान  केंद्रों पर पानी के पानी, बिजली आपूर्ति, प्रकाश, दिव्यांग के लिए विशेष व्यवस्था, व्हील चेयर आदि सुविधाएं होंगी। विधानसभा चुनाव के लिए ईवीएम का उपयोग किया जाएगा।  इसके लिए राज्य में 1.80 लाख बैलेट यूनिट, 1.30 लाख कंट्रोल यूनिट और 1.35 लाख वीवीपैट यंत्र का उपयोग किया जाएगा। सिंह ने कहा कि इन सभी यंत्रों की प्राथमिक जांच पूरी  हो गई है और इन्हें सुरक्षित जगहों पर रखा गया है।

मतदान प्रतिशत बढ़ाने पर जोर
उन्होंने कहा कि वर्ष 2009 के विधानसभा चुनाव में राज्य में 50.67 फीसदी मतदान हुआ था और 2014 के चुनाव में 60.32 फीसदी मतदान हुआ था, इस बार अधिक से अधिक  मतदान कराने के विशेष प्रयास किए जाएंगे। विधानसभा चुनाव के लिए 6.50 लाख कर्मचारियों की नियुक्ति की जाएगी। मतदान के काम में कोई गलती न हो, इसे ध्यान में रखते  हुए कर्मचारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। चुनाव के दौरान कानून-व्यवस्था बनाए रखने व शांतिपूर्वक, निर्भीक तरीके से तथा पारदर्शी चुनाव कराने के लिए पुलिस बल तैयार  है। मतदाताओं को जागरूक बनाने के लिए हर निर्वाचन क्षेत्र में विशेष जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसमें मतदाताओं को ईवीएम की सुरक्षा सहित अन्य बातों  की  जानकारी दी जा रही है।

सी व्हिजिल व हेल्पलाइन
चुनाव में सी व्हिजिल सुविधा और तकनीकी का प्रभावी तरीके से उपयोग किया जाएगा। कहीं भी आचार संहिता भंग होने पर नागरिक मोबाइल एप्लीकेशन सी व्हिजिल के माध्यम  से शिकायत कर सकते हैं। राज्य स्तर और जिला स्तर पर संपर्क केंद्र स्थापित किए गए हैं और शिकायत निवारण के लिए टोल फ्री नंबर 1950 दिया गया है। राज्य स्तर पर यह  सेवा 24 घंटे शुरू रहेगी।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget